• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Banswara
  • Hundreds Of Buckets Of Water Were Thrown Waiting For Clean Water From The Supply Pipe, People Had No Water To Make Breakfast In The Morning, 300 Houses Met Their Needs By Asking For Campers.

पीने के नाम पर शहर को परोसा गंदा पानी:सप्लाई पाइप से साफ पानी के इंतजार में सैकड़ों बाल्टी पानी फेंका, सुबह लोगों के घर नाश्ता बनाने को नहीं रहा पानी, कैंपर मंगाकर 300 घरों ने पूरी की जरूरतें

बांसवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तंबोलीवाड़ा के एक घर में बुधवार सुबह जलापूर्ति पाइप लाइन से निकलता गंदा पानी। - Dainik Bhaskar
तंबोलीवाड़ा के एक घर में बुधवार सुबह जलापूर्ति पाइप लाइन से निकलता गंदा पानी।

जन स्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग ने फिर से शहर की घनी आबादी वाले इलाके में गंदा पानी परोसा है। कंधारवाड़ी, तंबोली वाड़ा, डेगली माता, पुरानी सब्जी मंडी इलाकों में बुधवार सुबह गंदे पानी की सप्लाई से आम जिंदगी परेशान दिखी। नलों में पानी आता देख लोगों ने पीने वाले पानी के मटके खाली कर दिए। बाद में पता चला कि सप्लाई में गंदा पानी आ रहा है। इसके बाद साफ पानी आने के इंतजार में लोगों ने सैकड़ों बाल्टी पानी नालियों में बहाया, लेकिन शुरुआत से अंत तक काले पानी की सप्लाई में सुधार नहीं हुआ। समस्या को लेकर लोगों ने घरों के बाहर निकलकर आक्रोश जताया। पानी के अभाव में लोगों के घर सुबह के समय नाश्ते की व्यवस्था नहीं हो सकी। मटका खाली करने के बाद लोगों को असुविधाएं हुई। बाद में लोगों ने व्यक्तिगत स्तर पर कैंपर की व्यवस्था की। वहीं कुछ लोगों ने हैंडपंप से पेयजल की व्यवस्था की। तब कहीं जाकर जनजीवन पटरी पर आया।

कंधारवाड़ी इलाके की सप्लाई में आया गंदा पानी।
कंधारवाड़ी इलाके की सप्लाई में आया गंदा पानी।

करीब 300 उपभोक्ता परेशान
यूं तो पीएचईडी की ओर से शहर के अधिकांश हिस्सों में कागदी पिक-अप-वियर की सप्लाई दी जाती है, लेकिन स्थान विशेष की टंकी को बोरिंग वाले ट्यूबवेल से भी जोड़ा हुआ है। प्रभावित इलाके में करीब 300 उपभोक्ता हैं, जो के ट्यूबवेल से जुड़े हुए हैं।
इधर, मामले में पीएचईडी के एईएन दुर्गेश शाह ने बताया कि समीपवर्ती इलाकों से ऐसी शिकायत नहीं मिली है। स्थान विशेष पर ही ऐसी बात सामने आई है। संभवत: ट्यूबवेल की खराबी से ऐसा हुआ होगा। अभी जांच करा रहे हैं।