पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कनिष्ठ सहायक संघ की सरकार को चेतावनी:15 दिन में नहीं सुनी तो मनरेगा और विभागीय कार्यों का होगा बहिष्कार, एसडीओ और बीडीओ से मिले संघ पदाधिकारी

बांसवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कास अधिकारी को ज्ञापन सौंपते कनिष्ठ सहायक संघ के पदाधिकारी। - Dainik Bhaskar
कास अधिकारी को ज्ञापन सौंपते कनिष्ठ सहायक संघ के पदाधिकारी।

लॉकडाउन में छूट क्या मिली, ग्रेड-पे 3600 करने, मृतक आश्रित कोटे के कार्मिकों की टंकण परीक्षा बाध्यता समाप्त करने जैसी मांगों को लेकर कर्मचारियों ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलना शुरू कर दिया है। इसकी शुरुआत डूंगरपुर जिले के आसपुर से हुई है।

पंचायती राज 2013 में भर्ती कनिष्ठ सहायकों के संघ ने यहां मांगों को लेकर सरकार को चेतावनी दी है। मुख्यमंत्री के नाम उपखण्ड अधिकारी और विकास अधिकारी को ज्ञापन सौंपते हुए संगठन प्रतिनिधियों ने कहा कि अगर, 15 दिनों में उनकी समस्याओं का समाधान नहीं होता है तो वह सभी मनरेगा सहित अन्य विभागीय कामों का बहिष्कार करेंगे।

संगठन के ब्लॉक अध्यक्ष कमलेश त्रिवेदी ने कहा कि लिपिकों को एक से अधिक पंचायतों का कार्यभार देने, फील्ड वर्क कराने के एवज में हार्ड डयूटी अलाउंस स्वीकृति, अंतर जिला स्थानांतरण, महानरेगा से प्रतिनियुक्ति निरस्त कर 2515 से भुगतान, पदोन्नति व पद सृजन, पंचायती राज में 2013 भर्ती के शेष रहे पदों को शीघ्र भरने जैसी पेंडिंग मांगों को लेकर सरकार को विचार करना चाहिए। त्रिवेदी ने कहा कि सरकार को समान पंचायती राज में 25 प्रतिशत उच्च पदों पर पदोन्नति की मांगों का भी निस्तारण शीघ्र करना चाहिए। संगठन प्रतिनिधि के तौर पर जयेश रावल, हिमांशु जैन, पर्वतसिंह,जयसिंह,राधेश्याम,विनोद सिंह राजावत,गुंजन जैन एवं अन्य पदाधिकारी मौके पर मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...