कोरोना संक्रमण / बांसवाड़ा में संदिग्धों की जांच में संक्रमण की दर 3.02%, प्रदेश में 5वां स्थान

X

  • 18708 प्रवासी लौटे, सैंपल सिर्फ 331 के ही लिए, यही सबसे बड़ा खतरा बन सकता है
  • डूंगरपुर में सबसे ज्यादा 5.59% संक्रमण दर, 333 संक्रमितों में 294 प्रवासी शामिल

दैनिक भास्कर

May 30, 2020, 05:00 AM IST

बांसवाड़ा. प्रदेश में सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित जयपुर में 1911 हैं, लेकिन संदिग्धों की जांच में सबसे अधिक संक्रमण की दर डूंगरपुर में 5.59 फीसदी है। डूंगरपुर में जांच किए गए 5953 सैंपल में 333 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। गौर करने वाली बात है कि इसमें सबसे ज्यादा 294 संक्रमित प्रवासी लोग है जो विभिन्न राज्याें से अपने घर लौटे। इसी दर में बांसवाड़ा भी पीछे नहीं है। जिले में लिए गए सैंपल में 3.02 फीसदी संक्रमित मिले हैं। बांसवाड़ा इस लिहाज से प्रदेश में 5वें पायदान पर है। यहां 2909 सैंपल लिए गए है जिसमें 88 की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है।
प्रदेश की स्थिति देखे तो टॉप 5 जिलों में सबसे अधिक 4 जिले उदयपुर संभाग के ही हैं। जिसमें डूंगरपुर 5.59%, राजसमंद 4.49%, उदयपुर 3.43% और बांसवाड़ा 3.02 % के साथ शामिल है।

सबसे कम दर वाले जिले
जिला दर
बूंदी 0.14
गंगानगर 0.30
बारां 0.36
सवाई माधोपुर 0.50
भीलवाड़ा 0.67
हनुमानगढ़ 0.73
करोली 0.77
प्रतापगढ़ 0.80


बांसवाड़ा में प्रति 33 सैंपल पर एक पॉजिटव, प्रतापगढ़ में सबसे कम खतरा क्योंकि 1619 की जांच में 13 पाॅजिटिव
संक्रमण की दर अधिक होने का कारण संदिग्धों की जांच दर कम होना है। बूंदी में 2 संक्रमितों के पीछे 1421 लोगों की जांच की गई यानी एक संक्रमित मिलने पर 700 से ज्यादा की जांच। यही स्थिति बांसवाड़ा की देखे तो यहां 33 सैंपल पर एक संक्रमित है, वहीं डूंगरपुर में औसत 17 सैंपल पर एक संक्रमित है। उदयपुर संभाग में सबसे बेहतर स्थिति में प्रतापगढ़ जिला है जहां 1619 लोगों की जांच के बाद 13 पाॅजिटिव मिले है। यहां औसत 124 सैंपल पर एक पाॅजिटिव केस आ रहा है। भले ही डूंगरपुर जिले में इन दिनों सर्वाधिक संक्रमित सामने आ रहे है और डर सबसे ज्यादा है, लेकिन जिले में संक्रमण से अब तक एक भी मौत नहीं।
बांसवाड़ा में अब तक दो मौत हो चुकी है। उदयपुर, प्रतापगढ़, राजसमंद 1-1 और चित्तौड़गढ़ में 4 संक्रमितों की मौत हुई है। सबसे ज्यादा मौत जयपुर में 85, जोधपुर में 17 कोटा में 16 और अजमेर में 7 लोगों की मौत हुई है। बांसवाड़ा में हालात ऐसे हैं कि एक मई से अब तक 18 हजार 708 प्रवासी श्रमिक बांसवाड़ा जिले में आए। लेकिन इनमें से केवल 331 प्रवासियों के ही सैंपल लिए गए हैं। जिसमें से भी 8 संक्रमित पाए गए। जबकि अन्य प्रवासियों को केवल तापमान नापकर ही घर भेज दिया।
संभाग में संक्रमण की दर
10%
जोधपुर में सबसे ज्यादा 69617 जांचें
ज्य में सबसे ज्यादा जांच जोधपुर में 69617 और जयपुर में 63712 हो चुकी है। वहीं तीसरे नंबर पर कोटा जिला है, जहां 23154 लोगों की जांच की जा चुकी है। भीलवाड़ा सही मायने में जांच के हिसाब से माॅडल है। वहां 134 संक्रमित आ चुके है। इसके लिए वहां 20,081 लोगों की की जांच की गई है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना