• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Banswara
  • In The Assembly And RTI, 343 Posts In Mathematics And Science Are Declared Vacant, These 30 Are Shown In The Waiting List Of REET 2016

गड़बड़झाला:विधानसभा और आरटीआई में गणित-विज्ञान में 343 पद खाली बताए, रीट-2016 की वेटिंग लिस्ट ये 30 दिखाए

बांसवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • टीएसपी क्षेत्र के अभ्यर्थी बाेले-शिक्षा विभाग बताए कहां गए 313 पद, निदेशालय ने कहा-काेई गड़बड़ नहीं

शिक्षा मंत्री जी! रीट-2016 की गणित-विज्ञान और अंग्रेजी विषय की जारी की गई वेटिंग लिस्ट में गड़बड़झाला हुआ है। 15वीं विधानसभा के चाैथे सत्र में तारांकित सवाल 658 के जवाब में टीएसपी क्षेत्र में गणित-विज्ञान में 343 पद खाली बताए गए। जून-2020 में आरटीआई के जवाब में भी 343 पद खाली बताए गए।

चौंकाने वाला यह है कि अब जारी वेटिंग लिस्ट में इन पदों की संख्या महज 30 पद ही बताए गए हैं। अब सवाल यह है कि बाकी 313 पद कहां गए? शिक्षा विभाग का तर्क है कि आरटीआई में जानकारी देने के बाद कई पद भर दिए गए। हैरानी यह है कि आरटीआई में नॉन टीएसपी में जितने खाली पद बताए गए थे, जारी सूची में उतने ही पद हैं। टीएसपी में अचानक पदाें की गड़बड़ी से अभ्यर्थी नाराज हाे गए हैं।

दैनिक भास्कर ने पदों की गड़बड़ी पर पड़ताल की तो पता चला कि माध्यमिक शिक्षा निदेशालय ने टीएसपी की वेटिंग कट ऑफ लिस्ट जारी की, जिसमें अनारक्षित पुरुष की कट ऑफ 63.440 प्रतिशत, महिला 63.360 प्रतिशत और एसटी पुरुष की 52.84 प्रतिशत और महिला के लिए 51.490 प्रतिशत कट ऑफ है। अभ्यर्थियाें का मानना है कि सभी रिक्त पदाें पर वेटिंग जारी हाेती ताे कट ऑफ कम जा सकती थी। कई अभ्यर्थियाें काे माैका मिल सकता था।

नाॅन टीएसपी में मांगी सहमति अाैर असहमति, टीएसपी में काेई नाेटिफिकेशन क्याें नहीं?

नॉन टीएसपी में आरटीआई में जितने पद रिक्त थे उन्हीं पर वेटिंग निकाली गई। नॉन टीएसपी में इस कार्य के लिए सर्कुलर नोटिफिकेशन भी निकाला गया और शाला दर्पण पर जो 2018 रीट के पद हैं और 2016 रीट की वेटिंग में है, उनसे सहमति-असहमति ली गई। दूसरी तरफ इसके उलट टीएसपी क्षेत्र में कोई भी सर्कुलर नोटिफिकेशन नहीं निकाला गया।

पोस्टेड को हटाने की प्रक्रिया शाला दर्पण पर ना करके ईमेल के द्वारा की गई जो पूरी तरह से दोषपूर्ण प्रक्रिया थी, क्योंकि-कई पोस्टेड लड़कों को ईमेल भेजे ही नहीं गए। न ही नॉन टीएसपी की तरह बाध्य किया गया कि वह ज्वाॅइन करेंगे तो उन्हें 2 साल का प्रोबेशन पीरियड फिर से करना पड़ेगा।

गणित-विज्ञान और अंग्रेजी में कैसे बिगड़ा रिक्त पदाें का गणित?
2016 में जारी की गई विज्ञप्ति में टीएसपी क्षेत्र के लिए गणित-विज्ञान में 785 सामान्य शिक्षक और 4 विशेष शिक्षकाें सहित कुल 789 पदाें पर भर्ती की गई थी। इसमें 772 सामान्य शिक्षक, 3 विशेष शिक्षक सहित कुल 775 शिक्षक चयनित हुए, लेकिन इनमें से कुल 446 शिक्षकाें काे ही नियुक्ति मिली।

ऐसे में चयनित और नियुक्ति वाले पदाें में 329 पद खाली रह गए थे। इसी प्रकार अंग्रेजी विषय की बात करें ताे 663 विज्ञापित पदाें में 640 का चयन हुआ और 441 काे नियुक्ति दी गई। ऐसे में 199 पद रिक्त रह गए। वहीं अगर विज्ञापित पदाें की संख्या में रिक्त पदाें की संख्या काे देखा जाए ताे अंग्रेजी में 222 पद और गणित-विज्ञान में 343 पद खाली रहना सूचना के अधिकार के तहत प्राप्त जानकारी में बताया गया है।

अभ्यर्थियों ने कहा-सरकार ने टीएसपी के युवाओ से धाेखा

नियुक्ति से वंचित अभ्यर्थियाें ने बताया कि टीएसपी क्षेत्र वालों के साथ सरकार और निदेशालय ने धोखा किया है। विधानसभा सत्र में खुद विधायक ने गणित-विज्ञान टीएसपी क्षेत्र में 343 पद के खाली होने की बात कही थी। इसके अलावा जून-2020 में भूपेंद्र दर्जी द्वारा लगाई गई आरटीआई में भी टीएसपी क्षेत्र के 343 पद के खाली होने की बात लिखी गई।

इस कारण 2 साल तक अभ्यर्थी पढ़ाई छोड़कर केवल इसी में लगे रहे कि कहीं वेटिंग में उनका सिलेक्शन हो जाए। इस चक्कर में वे किसी भी एग्जाम की तैयारी बराबर नहीं कर पाए। रीट 2021 की एग्जाम तक अभ्यर्थी इसी में उलझे रहे। सभी प्रयासों के बाद जो वेटिंग निकाली गई तो मात्र 30 पदों पर निकाली गई।

उतने पद डेढ़ साल पहले खाली थे अब नहीं : स्वामी

अभ्यर्थियाें का कहना है कि 340 पद खाली हैं ताे वह पद अभी खाली नहीं है। उन्हाेंने आरटीआई से एक डेढ़ साल पहले सूचना मांगी थी, उसके बाद ताे कई पद भर गए, कई पद ऑफलाइन थे, ताे वाे भी ऑनलाइन हाे चुके हैं। जहां तक उनकी दूसरी बात है कि उनसे हमनें सहमति असहमति नहीं मांगी ताे वाे गलत है हमनें उनसे भी मांगी थी। -साैरभ स्वामी, निदेशक, माध्यमिक शिक्षा बीकानेर।

खबरें और भी हैं...