सड़क किनारे मिला पूर्व सरपंच का शव:चेहरा पूरा सड़ चुका था , 5 दिन बाद भी बजता रहा मोबाइल

बांसवाड़ा5 महीने पहले
लोहारिया-बड़ी सरेड़ी मार्ग पर झाड़ियों में पड़ी हुई बाइक और समीप पड़ा हुआ शव।

पुलिस ने सड़क किनारे झाड़ियों से पूर्व सरपंच का सड़ा-गला शव बरामद किया। शव का चेहरा और आगे का हिस्सा सड़ चुका है। परिवार ने मौके पर पड़ी बाइक और कपड़ों के हिसाब से शव की पहचान की। फिलहाल शव को बांसवाड़ा जिला अस्पताल की मोर्चरी में शिफ्ट कराया गया है। पूर्व सरपंच की मौत सड़क दुर्घटना में हुई है या उसकी हत्या की गई है इसको लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है। पूरे मामले में खास यह रहा कि सरपंच के एंड्रॉयड फोन की बैटरी दुरस्त थी, लाश मिलने के बाद तक भी फोन की घंटी जा रही थी। इससे पहले थाना इलाके की सीमा को लेकर गढ़ी और लोहारिया थाने से पुलिस मौके पर पहुंची थी। बाद में सीमा क्षेत्र के हिसाब से लोहारिया थाना पुलिस ने कार्रवाई की।
लोहारिया थाना प्रभारी CI पूरणमल ने बताया कि झड़स ग्राम पंचायत के पूर्व सरपंच मोहन (35) पुत्र नाथू डोडियार का शव सरेड़ी बड़ी-लोहारिया रोड पर झाड़ियों के किनारे एक गड्‌ढे में पड़ा मिला। मौके पर ही उसकी बाइक भी पड़ी मिली। अमूमन इस रोड पर ट्रैफिक रहता है, लेकिन झाड़ियों के कारण बाइक और शव आम लोगों की नजर में नहीं आया। शव औंधे मुंह पड़ा था, जिस कारण चेहरा पूरा खराब हो चुका है। वहीं फोन मोहन की पेंट की पिछली जेब में पड़ा था, जिसके आधार पर उसकी लोकेशन निकाली गई थी।
29 जून से लापता था

परिवार ने बताया कि मोहन 29 जून को किसी बिल जमा कराने की बात कहकर घर से निकला था। इसके बाद वह नहीं आया। परिजनों ने इधर-उधर तलाश की, लेकिन उसका पता नहीं चला। इसके बाद शनिवार को परिवार ने गढ़ी थाने में मोहन की गुमशुदगी दर्ज कराई। इसके बाद पुलिस ने मोबाइल नंबर पर घंटिंयां कीं। मोबाइल लोकेशन निकाली। झाड़ियों के समीप से गुजरते समय पुलिस को गंध मिली। शक पर पीछे की ओर देखा तो शव पड़ा था।