बूढ़ी सास को बहू ने लकड़ी मारी:जेठानी और जेठ की बच्चियों ने जमकर पीटा, अस्पताल में भर्ती

बांसवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डेमो पिक। - Dainik Bhaskar
डेमो पिक।

बीमार सास को लकड़ी से पीटने पर एक बहू को जेठानी, जेठ की बच्चियों सहित चार महिलाओं ने इतना पीटा कि उसे कई दिन अस्पताल में भर्ती रहना पड़ा। अभी भी महिला की हालत पूरी तरह से ठीक नहीं है। महिला की बुजुर्ग सास मानसिक कमजोरी का शिकार है, जिसने बिस्तर में टॉयलेट कर दिया। इससे खफा बहू ने सास को लकड़ी मार दी। ये देख परिवार की दूसरी महिलाओं ने विरोध ही नहीं किया बल्कि महिला को सबक सिखाने के लिए उसकी ही पिटाई कर दी। अब घर का ये विवाद थाने पहुंचा है। मामला खमेरा थाने का है।
जांच अधिकारी HC बसुलाल ने बताया कि मंगेलापाड़ा निवासी आशा पत्नी खातुराम निनामा ने रिपोर्ट दी है। उसका आरोप है कि वह घर में दुधमुंहे बच्चे को दूध पिला रही थी। तभी उसकी जेठानी कमला निनामा, उसकी दो बेटियां और एक रिश्तेदार महिला उसके घर पहुंची। उन्होंने जाते ही गाली गलौ्ज की। इसके बाद मारपीट शुरू कर दी। लट्‌ठ से उसके शरीर पर कई वार किए। वारदात में उसके कान का टॉप्स भी खींचा गया। शोर सुनकर पति मौके पर आए तो सभी महिलाएं घर से भाग गई। वारदात 15 मई की है। महिला की गंभीर हालत को देखते हुए परिवार ने उसे प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती कराया। अब स्वस्थ होने के बाद महिला ने थाने में रिपोर्ट दी।
फिलहाल जांच में सामने आया

शिकायतकर्ता महिला के घर नहीं मिलने से पुलिस जांच अधूरी है, लेकिन जांच अधिकारी बसुलाल ने बताया कि खातुराम सरकारी टीचर है। आशा उसकी दूसरी पत्नी है। पूरा परिवार आसपास ही रहता है, जहां आशा ने उसकी सास को लकड़ी मार दी होगी। वहीं पास रहने वाली जेठानी ने बोला कि सास की सेवा वह कर रही है तो लकड़ी उसने क्यों मारी। इस बात को लेकर विवाद में मारपीट हो गई।