साधारण सभा में मंत्री मालवीया ने लगाई फटकार:Xen को बाहर किया, ACF को मीटिंग से वापस भेजा

बांसवाड़ाएक महीने पहले
जिला परिषद की बैठक में मौजूद मंत्री, जिला प्रमुख एवं अन्य।

जिला परिषद की साधारण सभा में इस बार हंगामा नहीं हुआ बल्कि मुद्दों पर बहस हुई। समस्याओं का भी मौके पर निस्तारण करने पर चिंतन-मनन हुआ। लेकिन, इन सबके बीच जल संसाधन मंत्री महेंद्रजीतसिंह मालवीया के तेवर तल्ख दिखाई दिए। मंत्री मालवीया ने बैठक की शुरुआत में ही किसी जवाब पर अजमेर डिस्कॉम के Xen एमडी चौधरी को सभा से बाहर निकाल दिया। इतना ही नहीं उन्हें करीब आधे घंटे तक गेट के बाहर खड़ा रखा। इधर, किसी उच्चाधिकारी के साथ चल रहे DFO हरिकिशन सारस्वत के नहीं आने पर उनके एवज में आए ACF सतीश जैन को लौटा दिया। मंत्री ने खुद के विभाग को Xen सुरेंद्र दांतला की लापरवाही को लेकर सीधी चेतावनी दी। दो शब्दों में कहा कि काम करना है तो ठीक नहीं तो बोरिया बिस्तर बांध लेना। इससे पहले यहां तय समय पर बैठक की शुरुआत मंत्री पत्नी एवं जिला प्रमुख रेशम मालवीया, घाटोल विधायक हरेंद्र निनामा एवं कलेक्टर प्रकाशचंद्र शर्मा की अध्यक्षता में हुई।

मंत्री बोले: मीटिंग से तीन दिन पहले मेडिकल चैकअप करा लो

जन समस्याएं और जनप्रतिनिधियों की शिकायतों पर गंभीर दिखे मंत्री ने अजमेर डिस्कॉम के SE की अनुपस्थिति को लेकर उनके जूनियर से दो टूक शब्दों में कहा कि जिस भी अधिकारी की तबीयत खराब हो वह मीटिंग से पहले चैकअप कराकर तैयार रहे। अगली बार से बहाने नहीं चलेंगे। बता दें बैठक में बांसवाड़ा SP राजेश कुमार मीणा भी अनुपस्थित थे, लेकिन उनकी एवज में बैठक में न तो ASP थे और न ही DSP

मीटिंग से अजमेर डिस्कॉम के Xen को बाहर निकाला।
मीटिंग से अजमेर डिस्कॉम के Xen को बाहर निकाला।

हथिया दिल्ली में बिजली लाइन चाहिए
मध्यप्रदेश बॉर्डर पर जिले की अंतिम सीमा पर स्थित पाटन के हथियादिल्ली गांव में बिजली, पानी और सड़क की समस्याओं का दर्द मंत्री मालवीया के सुर में छलक गया। उन्होंने कलेक्टर से कहा कि ये ऐसा गांव है, जहां अब तक बिजली नहीं पहुंची। ऊंचाई पर पानी की सुविधा नहीं है। सड़क की समस्या भी है। मंत्री ने विभागीय जिम्मेदार से कहा कि अगर 24 घंटे में उस गांव में PM और CM का प्रोग्राम बन जाता है तो कैसे बिजली पहुंचाओगे। वैसे ही वहां के काम को प्राथमिकता से लेना है।
दो साल से नहीं मिली छात्रवृत्ति
सदन में सदस्य कृष्णा कटारा ने कहा कि जनजाति विद्यार्थियों को दो साल से छात्रवृत्ति नहीं मिली है। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की निदेशक हेमांगी निनामा जवाब दे रही थी। इस बीच कलेक्टर ने स्पष्ट किया कि सेंटर गवर्नमेंट की ओर से CRM में SC कोटे की छात्रवृत्ति मिल रही है, लेकिन ST के नाम पर दो साल से छात्रवृत्ति नहीं मिली है। इस पर राज्य सरकार की ओर से नए निर्देश दिए गए हैं।
भूंगड़ा थानाधिकारी के खिलाफ खोला मोर्चा
सदन में घाटोल MLA हरेंद्र निनामा ने बाल विवाह रुकवाने गई पुलिस पर हुए पथराव का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि भूंगड़ा थानाधिकारी हेमंत चौहान ने 65 साल के बुजुर्ग आदिवासी से मारपीट की है। बाल विवाह रोकने के नाम पर पुलिस ने बर्बरता की है। नोतरे को शादी बताकर पुलिम ने जुल्म किया है। इसका सदस्य नानालाल निनामा ने भी समर्थन किया। सदन में थानेदार को हटाने के लिए जोरशोर से आवाज उठी।
बेणेश्वर से लेकर अगरपुरा तक सूखा
परिषद सदस्य देवेंद्र त्रिवेदी ने पालोदा में दो दिन से जलापूर्ति नहीं होने का मुद्दा उठाया। बताया कि बेणेश्वर से लेकर अगरपुरा तक नदी का पूरा पानी सूख गया है। जलापूर्ति के अभाव में बड़ी तादाद में आबादी प्यासी है। इस मामले में यहां डूंगरपुर से बेणेश्वर का एनीकट रिचार्ज कराने पर सहमति बनी।

पहले भी कई बार सस्पेंड रहे चौधरी
बात अगर, Xen चौधरी की करें तो वह प्रतापगढ़ विजिलेंस में रहते हुए भी दो बार सस्पेंड रहे हैं। यहां पदभार संभालने के बाद डिस्कॉम के MD ने उनका तबादला कर दिया है। इस ऑर्डर पर कोर्ट का स्टे लेकर यहां बैठे हुए हैं। Xen चौधरी यहां राज्यमंत्री अर्जुन बामनिया सिफारिश से यहां आए थे।

मंत्री बोले: TAD को क्यों भेजा प्रस्ताव

एक तालाब को लेकर जल संसाधन विभाग के Xen दांतला से सवाल जवाब कर रहे मंत्री मालवीया ने प्रस्ताव और बजट को लेकर जानकारी ली। Xen दांतला ने कहा कि संबंधित तालाब का बजट TAD से मिल चका है। तब मंत्री मालवीया ने एकबारगी बोला कि वहां प्रस्ताव क्यों भेजा। हालांकि अगले ही पल उन्होंने बात संभाल भी ली। बता दें TAD मंत्री अर्जुन बामनिया भी बांसवाड़ा से ही हैं।