पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्रवचन:कर्म के असली स्वरूप को जाने और समझें

बांसवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बाहुबली कॉलोनी दिगंबर जैन मंदिर में आचार्य पुलक सागरजी ने कहा

बाहुबली कॉलोनी दिगंबर जैन मंदिर में आचार्य पुलक सागरजी ने अपने प्रवचन में कहा कि हम चाहते हैं कि कर्म के असली स्वरूप को जाने समझे। समय के संक्रमण काल से प्रभावित होकर आज के परिवेश में कर्म को विकृत ना करें। प्रत्येक परिस्थिति में धर्म में विश्वास बनाए रखें वह धर्म ही है, जो हमें सुख प्रदान करता है। मोक्ष का फल मोक्ष के रूप में मिलेगा। धर्म के पथ को यदि कठिन मान लिया है तो कठिन का फल दुख है।

आचार्य जी ने कहा कि आत्म सुख की तलाश करें, जीवन में पुण्य अर्जन शांति संयम एवं संतोष के साथ करें, लेकिन हर परिस्थिति में खुश रहना सीख ले फिर देखना की जीवन कितना खुशहाल बनता है। जीवन की इन उपयोगी बातों को लेकर गुरुदेव ने कहा कि मंदिर जाने वाले और मंदिर न जाने वालों के बीच आप क्या अंतर देखना चाहते हैं।

अर्थात आस्तिक और नास्तिक में क्या फर्क होना चाहिए। जहां तक आस्तिक और नास्तिक में आज इतना ही फर्क रह गया एक-एक मंदिर जाता है पूजा पाठ करता है और दूसरा मंदिर नहीं जाता और कुछ नहीं करता। बस मंदिर के बाहर जब दोनों का ही आचरण व्यवहार सोच इच्छाएं और भावनाएं एक समान अप्रत्यक्ष दिखाई दे तो मंदिर बेमानी साबित होते हैं। आस्तिक की जीवन शैली नास्तिक जैसी बनी रहे तो फिर क्या फर्क कर सकते हैं दोनों में। पूजा-पाठ स्वाध्याय भी चले और गाली-गलौच, मान अपमान खींचतान भी चले तो फिर क्या मतलब मंदिर का।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- यह समय विवेक और चतुराई से काम लेने का है। आपके पिछले कुछ समय से रुके हुए व अटके हुए काम पूरे होंगे। संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी समस्या का भी समाधान निकलेगा। अगर कोई वाहन खरीदने क...

और पढ़ें