जब से नौकरी लगे तनख्वाह की शक्ल नहीं देखी:6 माह से नियमित सेवाएं दे रहे हैं कोविड सहायक, अब आंदोलन की दी चेतावनी

बांसवाड़ा7 महीने पहले
रैली के तौर पर जिला कलेक्ट्रेट पहुंचते कोविड स्वास्थ्य सहायक।

कोरोनाकाल में बीते 6 माह सेे चिकित्सा विभाग में विशेष सेवाएं दे रहे कोविड स्वास्थ्य सहायकों को अब तक तनख्वाह नसीब नहीं हुई। पहली पोस्टिंग के साथ नौकरी को लेकर उत्साहित इन युवाओं को तनख्वाह की शक्ल भी नहीं देखी है। दिवाली जैसे त्योहार पर भी सरकार की ओर से ऐसे संविदा कार्मिकों को वेतन नहीं दिया गया। अब कोरोना की तीसरी लहर में खुद को जोखिम में डालकर सेवाएं देने वाले ऐसे कार्मिकों के हौंसले डगमगाने लग गए हैं। स्वास्थ्य सहायक अब वेतन की नियमित मांग को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। बुधवार को स्वास्थ्य सहायकों ने एक बार फिर महात्मा गांधी जिला अस्पताल से जिला कलेक्ट्रेट तक रैली निकाली। बाद में CM के नाम पर ADM नरेश बुनकर को ज्ञापन सौंपा। स्वास्थ्य सहायकों ने स्पष्ट किया कि आने वाले 7 दिनों में उन्हें वेतन नहीं मिलता है तो वह आंदोलन करेंगे। गौरतलब है कि कोरोनाकाल में नर्सिंग कर्मचारियों की कमी के बीच प्रदेश सरकार के आदेश पर मई महीने में CMHO बांसवाड़ा की ओर से कोविड स्वास्थ्य सहायकों की भर्ती की गई थी। मेरिट के आधार पर इन कार्मिकों को अस्थाई (संविदा) नौकरी दी गई थी। जून महीने में नियुक्ति के बाद से अब तक इन कर्मचारियों को विभाग की ओर से वेतन नहीं दिया गया है। वर्तमान में स्वास्थ्य सहायक कोविड को लेकर घर-घर सर्वे से लेकर कोविड वार्ड में सेवाएं दे रहे हैं। इन्ही स्वास्थ्य सहायकों को मुख्यमंत्री बीमा योजना की भी जिम्मेदारी भी सौंपी गई है।

खबरें और भी हैं...