मंत्री के बेटे की शादी, जश्न में फायर:मालवीया के बेटे चंद्रवीर और पूर्व मंत्री रावत की बेटी का था रिसेप्शन, मेहमान बंदूक लेकर करते रहे डांस

बांसवाड़ा5 महीने पहले

गहलोत सरकार में कैबिनेट मिनिस्टर महेंद्रजीत सिंह मालवीया के बेटे और पूर्व की भाजपा सरकार में राज्य मंत्री रहे धनसिंह रावत की बेटी के रिसेप्शन में जश्न में जमकर फायरिंग की गई। बांसवाड़ा में सोमवार को शादी का रिसेप्शन था, बड़ी संख्या में मेहमानों को आमंत्रित किया गया था। समारोह में जमकर फायर किए गए और उस समय मंत्री मालवीय भी मौजूद थे।

इस शादी समारोह के जश्न में बंदूक से गोलियां दागने के वीडियो भी सामने आए हैं। इनमें दिखाई दे रहा है कि मेहमानों के साथ घर वाले भी गेर नृत्य कर रहे हैं। इस नृत्य के दौरान कुछ लोगों के हाथ में बंदूकें हैं। इस बीच रुक कर दो लोगों ने तीन बंदूकों से एक साथ फायर किया। लोगों ने तालियां बजाकर जश्न मनाया।

रिसेप्शन में दोनों परिवार दूल्हा-दुल्हन के साथ फोटो शूट कराते।
रिसेप्शन में दोनों परिवार दूल्हा-दुल्हन के साथ फोटो शूट कराते।

कॉलेज में डायरेक्टर हैं चंद्रवीर

यह विवाह समारोह धनसिंह रावत के हाउसिंग बोर्ड स्थिति निवास पर बनाए गए पांडाल में आयोजित किया गया था। जिसमें सैकड़ों लोग शामिल हुए। मंत्री मालवीया के बेटे चंद्रवीर सिंह मालवीया कॉलेज के डायरेक्टर हैं। उनके पिता मालवीया पिछले दिनों मंत्रिमंडल विस्तार के दौरान ही कैबिनेट मंत्री बनाए गए हैं। पिछली गहलोत सरकार में भी वे मंत्री थे।

जश्न में फायर करने की तैयारी के साथ परिवार के सदस्य व मेहमान।
जश्न में फायर करने की तैयारी के साथ परिवार के सदस्य व मेहमान।

ट्रैफिक डायवर्ट, रोडवेज बसों को घूम कर जाना पड़ा

शादी के लिए लंबा-चौड़ा पांडाल बनाया गया था, इसके कारण पुलिस ने आसपास के ट्रैफिक को डायवर्ट भी कर दिया था। अव्वल राजस्थान रोडवेज बसों को भी घुमाकर लंबे रास्ते से निकाला गया। रोडवेज की बसों को करीब 15 किलोमीटर लंबा रास्ता तय करना पड़ा। इससे यात्री परेशान होते रहे।

हाथ में बंदूक लेकर गेर नृत्य करते मेहमान।
हाथ में बंदूक लेकर गेर नृत्य करते मेहमान।

कांग्रेस सरकार में मंत्री, भाजपा सरकार के पूर्व मंत्री के समधी बने

कांग्रेस के महेंद्रजीत सिंह मालवीया और कांग्रेस के धनसिंह रावत आपस में अब समधी बन गए हैं। दोनों के समधी बनने की सभी जगह चर्चा है। मालवीया कांग्रेस सरकार में मंत्री हैं और रावत पूर्व में भाजपा सरकार में राज्य मंत्री रहे हैं। दोनों एक-दूसरे के खिलाफ राजनीतिक बयानबाजी भी कर चुके हैं। बाद में पार्टी ने चुनाव के दौरान उन्हें निलंबित कर दिया था, लेकिन अब फिर से भाजपा में शामिल हो गए हैं। दोनों ही दलों के दिग्गजों के समधी बनने और उनके बेटे व बेटी के विवाह समारोह में फायरिंग का मामले पर दोनों दलों में चुप्पी है।

यह है कानून

आर्म्स एक्ट में संशोधन के बाद केंद्र सरकार ने शादी या अन्य समारोह में किसी भी प्रकार के हथियारों से फायरिंग को बैन कर दिया था। बहुत से लाइसेंसधारी शादियों में जश्न के लिए हवा में फायर करते हैं। कुछ सालों में ऐसे करने से कई लोगों की अनायास ही मौत हो चुकी है। इसके बाद यह संशोधन किया गया था।