साधारण सभा में तीन बार से नहीं आए TAD राज्यमंत्री:बामनिया बोले: जिला परिषद से नहीं मिला बुलावा, जिला प्रमुख बोलीं : सबको बुलाते हैं

बांसवाड़ाएक महीने पहले
मंत्री बामनिया और मालवीया।

जिला परिषद की साधारण सभा में TAD राज्यमंत्री अर्जुन बामनिया का तीसरी बार नहीं पहुंचना चर्चाओं में है। महेंद्रजीतसिंह मालवीया के मंत्री पद संभालने के बाद से मंत्री बामनिया ने किसी भी साधारण सभा में आना उचित नहीं समझा। मामले में मंत्री बामनिया का कहना है कि उन्हें बैठक में बुलाया ही नहीं गया। बिन बुलाए तो वह कैसे जा सकते हैं। दूसरी ओर जिला प्रमुख रेशम मालवीया ने कहा कि उनकी ओर से जिले के सभी विधायक, सांसद, 11 प्रधान, 31 सदस्यों को बकायदा लिखित और मौखिक सूचना दी जाती है। चर्चा ये भी रही कि तीनों बैठकों के दौरान मंत्री बामनिया बांसवाड़ा जिले में रहे हैं। खास तो तब हो जाता है जब, जनजाति बाहुल्य बांसवाड़ा में TAD की ओर से विभागीय कामों को लेकर कोई जवाब देने वाला प्रतिनिधि नहीं होता। दोनों मंत्रियों के बीच आपसी मनमुटाव को लेकर टेबल के नीचे कांग्रेसी प्रतिनिधियों में भी चर्चा का माहौल देखने को मिला।
विशेष साधारण सभा में भी रहे अनुपस्थित
आज से पहले 29 सितम्बर को जिला परिषद की ओर से विशेष साधारण सभा बुलाई गई थी। इसमें भी मंत्री बामनिया नदारद रहे। इसके अलावा 4 फरवरी 2022 को हुई बैठक में भी उनकी अनुपस्थिति रही, जबकि 24 दिसम्बर 2020, 25 मार्च 2021 और 29 जुलाई 2021 की बैठक में बतौर अतिथि मंत्री बामनिया ने कुर्सी संभाली थी। लेकिन, अब उनका बैठक में नहीं आना। बांसवाड़ा विधानसभा क्षेत्र के उनके नजदीकियों को परेशान कर रहा है।
चिंतन शिविर पर भी उठे सवाल
मंत्री मालवीया और मंत्री बामनिया के बीच रिश्तों को लेकर पहले भी चर्चाएं होती रही हैं। भले ही वह बेणेश्वर में राहुल गांधी की सभा का मौका हो या फिर किसी स्थान विशेष पर कांग्रेस की बड़ी बैठक। दोनों मंत्रियों के बीच किसी तरह का सीधा संवाद नहीं देखा जाता है। पार्टी के नाम पर कहीं एक जगह मिल भी गए तो भी नजरें चुराने वाली गतिविधियां बनी रहती हैं। ऐसे में चिंतन शिविर के बाद कांग्रेस जिस तरह से पार्टी के एक होने की बात कर रही थी। वह समीकरण धरातल पर नहीं दिखते।
बुलाया ही नहीं तो कैसे आऊं
मामले में मंत्री बामनिया का जवाब है कि उन्हंे आज सहित पिछली दो बैठकों में बुलाया ही नहीं गया। बिना बुलाए तो वह कैसे जा सकते हैं। मुझे बुलाया क्यों नहीं गया। इसका जवाब तो जिला परिषद से ही मिल सकता है।
हो सकता है जयपुर हों
इधर, जिला प्रमुख रेशम मालवीया ने कहा कि उनकी ओर से सभी जनप्रतिनिधियों को बुलावा जाता है। संभव हो कि साधारण सभा के दौरान मंत्री बामनिया बांसवाड़ा नहीं होकर जयपुर हों। उनकी अनुपस्थिति में विभाग के डिप्टी कमिश्नर जवाब देते हैं।

साधारण सभा में मंत्री मालवीया ने लगाई फटकार:Xen को बाहर किया, ACF को मीटिंग से वापस भेजा