पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Banswara
  • Party Bid: Victims Of Congress BJP Politics, Big Political Parties Are Involved In Creating Nuisance On The Highway, Tribals Are Getting Maligned

गिरफ्तार पूर्व विधायक के बचाव में उतरी बीटीपी:पार्टी पदाधिकारी बोले: कांग्रेस-भाजपा की राजनीति का शिकार, हाई-वे पर उपद्रव कराने में बड़े राजनीतिक दलों का हाथ, बदनाम हो रहा है आदिवासी

बांसवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कलेक्ट्रेट पहुंचे बीटीपी के पदाधिकारी व कार्यकर्ता। - Dainik Bhaskar
कलेक्ट्रेट पहुंचे बीटीपी के पदाधिकारी व कार्यकर्ता।

डूंगरपुर के पूर्व विधायक देवेंद्र कटारा की गिरफ्तारी को राजनीतिक साजिश बताते हुए बीटीपी (भारतीय ट्राइबल पार्टी) ने विरोध प्रदर्शन किया है। पार्टी ने उदयपुर-अहमदाबाद हाईवे के काकरी डूंगरी में नवम्बर 2020 में हुई घटना को कांग्रेस और भाजपा की राजनीति का हिस्सा करार दिया। साथ ही पार्टी के प्रवक्ता कटारा की गिरफ्तारी पर सवाल खड़े किए। मामले में हस्तक्षेप की मांग करते हुए पार्टी के बांसवाड़ा जिलाप्रभारी गेबीलाल मईड़ा, ब्लॉक उपाध्यक्ष रंगजी मईड़ा एवं अन्य ने राज्यपाल के नाम बांसवाड़ा जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। इससे पहले बीटीपी पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं के दल बांसवाड़ा शहर में सरकार के विरोध में रैली निकाली। नगर परिषद के समीप स्थित बांसिया भील की प्रतिमा से रैली का आगाज किया। इस दौरान पुतला फूंक कार्यकर्ता कलेक्ट्रेट में शामिल हुए।

सरकार के खिलाफ पुतला दहन कार्यक्रम में जमा हुए बीटीपी कार्यकर्ता।
सरकार के खिलाफ पुतला दहन कार्यक्रम में जमा हुए बीटीपी कार्यकर्ता।

बाहरी शक्तियों का था हाथ
राज्यपाल को भेजे गए ज्ञापन में पार्टी ने बताया कि शिक्षक भर्ती विरोध को उकसाने में बाहरी शक्तियों का हाथ था। कांग्रेस और भाजपा की ओर से भेजे गए लोगों ने काकरी डूंगरी में तोड़फोड़ की शुरुआत की थी। स्थानीय प्रशासन के इशारे पर यह साजिश आदिवासियों को बदनाम करने के लिए की गई थी। इसके बाद थानों पर बैठकर ही भाजपा और कांग्रेस के इशारे पर समाजसेवियों और बीटीपी कार्यकर्ताओं की सूची तैयार की गई थी। अलग-अलग थानों में दर्ज एफआईआर के आधार पर पुलिस अब लोगों की गिरफ्तारी कर रही है। इसकी वजह सत्ताधारी सरकार क्षेत्र में बढ़ते बीटीपी के वर्चस्व को दबाना चाहती है।

रैली निकालने से पहले नारेबाजी करते बीटीपी कार्यकर्ता।
रैली निकालने से पहले नारेबाजी करते बीटीपी कार्यकर्ता।

आंदोलन करेंगे, जिम्मेदारी सरकार की होगी
राज्यपाल से हस्तक्षेप की मांग करते हुए बीटीपी ने पुलिस की ओर से होने वाली गिरफ्तारियों पर अंकुश लगाने की मांग की है। पार्टी ने कहा कि समय रहते देवेंद्र कटारा को रिहा किया जाना चाहिए। ऐसा नहीं होने पर पार्टी आंदोलन पर उतरेगी, जिसकी समस्त जिम्मेदारी सरकार की होगी।

विरोध प्रदर्शन में भूले कायदे
सरकार और पुलिस की कार्रवाई से खफा बीटीपी कार्यकर्ताओं की रैली से पहले हुई बैठक में सोशल डिस्टेंसिंग जैसे कायदे ही भूल गए। बिना मास्क के सड़कों पर उतरे युवा कार्यकर्ता सरकारी गाइड लाइन को लेकर अनदेखी करते भी नजर आए। यह क्रम कलेक्ट्रेट परिसर में भी देखने को मिला।

खबरें और भी हैं...