कोरोना को लेकर सावधानी नहीं बरत रहे लोग:अस्पताल में कोरोना को लेकर बेपरवाह इंसान, एक मरीज से मिलने आते हैं 10 रिश्तेदार

बांसवाड़ा6 महीने पहले
महात्मा गांधी जिला अस्पताल के कोविड वार्ड के बाहर बिना मास्क के चुस्कियां लेते परिजन।

ऊपर दिख रही तस्वीर महात्मा गांधी जिला अस्पताल की है, जहां कोविड ICU वार्ड की गैलरी के समीप दो बंदर एक-दूसरे की तरफ पीठ कर बैठे हुए हैं। मरीजों से मिली रोटी खाने के बाद धूप लेने के लिए ऊंचाई पर बैठे बंदरों की तस्वीर मानों ये बयां कर रही है कि जैसे बंदरों को सोशल डिस्टेंसिंग की जानकारी है।

कोविड वार्ड के बाहर डिस्टेंस बनाकर बैठे बंदर।
कोविड वार्ड के बाहर डिस्टेंस बनाकर बैठे बंदर।

दूसरी ओर कोविड डेडिकेटेड वार्ड से लेकर अन्य वार्डों में इनसानों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग जैसी पालना देखने को नहीं मिल रही है। अधिकांश चेहरों पर से मास्क गायब है। वहीं फिमेल वार्ड से लेकर अन्य जगहों पर एक मरीज से मिलने के लिए 10-10 रिश्तेदार आ रहे हैं। मीडियाकर्मियों को देखकर वार्ड के बाहर पहरा देने वाले गार्ड कुछ समय के लिए भीड़ को खदेड़ देते हैं। वहीं कुछ देर बाद वापस से हालात जस के तस हो जाते हैं। बता दें कि बांसवाड़ा में अब तक 229 कोरोना पॉजीटीव केस सामने आ चुके हैं। इनमें 37 नए रोगी तो मंगलवार को ही सामने आए हैं। संक्रमण वाली रिपोर्ट में पहली बार दो महिला पुलिस कर्मियों का नाम भी सामने आया है।

फिमेल वार्ड में मरीज से मिलने पहुंची परिजनों की भीड़।
फिमेल वार्ड में मरीज से मिलने पहुंची परिजनों की भीड़।

बांसवाड़ा जिला अस्पताल की स्थिति

  • कोविड वार्ड और ICU मिलाकर 160 पॉजीटीव मरीज भर्ती करने की क्षमता है।
  • वर्तमान में दो गंभीर मरीज भर्ती हैं। इनमें से एक की आज छुट्‌टी होने वाली है।
  • अब तक 229 पॉजीटीव मामले सामने आए हैं। सभी को होम आइसोलेटेड किया हुआ है।
  • कॉलेज स्टेडियम में कलेक्टर की ओर से कोरोना रोगियों के लिए 20 लोगों के लिए अलग से कोरोना वार्ड बनवाया गया है।
  • अस्पताल के मेल वार्ड में 50 और फिमेल वार्ड में 60 मरीजों को भर्ती करने की क्षमता है।

आज से पाबंद करेंगे
मामले में डॉ. रवि उपाध्याय ने बताया कि वैसे तो कोरोना काे लेकर फालतू के परिजनों को आने से रोक रहे हैं, लेकिन आज से इस मामले में सख्ती बरतेंगे। कोशिश रहेगी कि परिजन दोपहर दो बजे बाद ही मरीजों से मिले। वहीं यह भी ध्यान रखा जाएगा कि जिस परिजन ने दोनों वैक्सीन डोज लगवाई है। उन्हें ही भीतर मरीजों से मिलने जाने दिया जाएगा।