नाबालिग से रिश्ते बनाने के आरोप में बुआ गिरफ्तार:पिता की शिकायत पर पुलिस ने धरा, पॉस्को एक्ट में हुई कार्रवाई, अदालत ने जेल भेजा

बांसवाड़ा9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बांसवाड़ा कोतवाली - Dainik Bhaskar
बांसवाड़ा कोतवाली

नाबालिग भतीजे से संबंध बनाने वाली बुआ (महिला) को कोतवाली पुलिस ने मंगलवार को पॉस्को एक्ट में गिरफ्तार किया है। उसे अदालत में पेश किया गया, जहां से न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश हुए। इससे पहले श्रीराम कॉलोनी निवासी सुशीला (42) पत्नी स्व. मुकेश ढोली ने नाबालिग के खिलाफ शारीरिक शोषण का मुकदमा कोतवाली थाने में दर्ज कराया था।

घटना के सात दिन बाद 29 जुलाई को नाबालिग के पिता ने थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी। पिता का आरोप था कि जाति समाज के हिसाब से सुशीला उसकी बहन लगती है, जिसने उसके बेटे के साथ डरा धमकाकर अवैध संबंध बनाए। पुलिस ने प्राथमिक शिकायत के बाद आरोप की पुष्टि की और महिला के खिलाफ मामला दर्ज किया था

महिला पर ऐसे आरोप

नाबालिग के पिता का आरोप है कि सुशीला रिश्ते में उसकी बुआ की लड़की है। यानी उसकी बहन होती है। सुशीला की सामाजिक रीति रिवाज से समाज में शादी हुई थी। पति की मौत के बाद उसने मुकेश तेली नाम के व्यक्ति से विवाह किया। कुछ समय बाद उसकी भी मौत हो गई। सुशीला बेऔलाद है। करीब दो साल पहले सुशीला उसके घर आई। उसने उसके बेटे की जिंदगी बनाने का वादा किया और गांव से शहर उसके घर ले आई। करीब 6 महीने पहले उसका बेटा, सुशीला से बचता हुआ घर पहुंचा।

पिता के पूछने पर नाबालिग ने सुशीला से जुड़े किस्से बताए। नाबालिग ने बताया कि सुशीला सट्टे का कारोबार चलाती है और देह व्यापार में भी लिप्त है। इसके बाद 7 मई को सुशीला फिर से गांव आई और समाज के पंचों के बीच पांच सौ रुपए के स्टाम्प पर एक लिखा पढ़ीकर समझौता किया। उसने कहा कि वह उसके बेटे से किसी तरह का गलत कार्य नहीं कराएगी। न ही किसी काम को कराने के लिए दबाव बनाएगी। लेकिन, 4 जुलाई को उसका बेटा फिर से गांव आ गया। उसने बताया कि सुशीला जबरन उसे अवैध संबंध बनाने के लिए मजबूर करती है।

पहले महिला ने बनाया था दबाव

घटना के सात दिन पहले सुशीला ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। उसने आरोप लगाया था कि नाबालिग उसके घर में किराए से रहने आया था। इस बीच उसने मंदिर की प्रसादी के नाम से उसे नशीला पदार्थ खिला दिया था। वह बेहोश हो गई तो नाबालिग ने उससे बलात्कार किया था। उसने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने की धमकी दी तो नाबालिग के परिवार वालों ने उससे शादी की बात कही। इसके बाद युवक और उसके परिवार वालों ने सुशीला से उधार पैसे लिए। दुकान के हिसाब में गड़बड़ी की। मामले में कोतवाल रतनसिंह चौहान ने बताया कि आरोपी महिला सुशीला को पॉस्को एक्ट में गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया था।

खबरें और भी हैं...