स्वास्थ्य विभाग ने बच्चों के लिए सैंपल:RTPCR जांच के लिए पुलिस का लिया सहयोग, जांच के कारण बच्चे स्कूल को हुए लेट

बांसवाड़ा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बांसवाड़ा के मोहन कॉलोनी चौराहे पर बच्चों के सैंपल लेता स्वास्थ्यकर्मी। - Dainik Bhaskar
बांसवाड़ा के मोहन कॉलोनी चौराहे पर बच्चों के सैंपल लेता स्वास्थ्यकर्मी।

बांसवाड़ा में ओमिक्रॉन और तीसरी लहर के कोरोना जैसे लक्षण वाला कोई रोगी अब तक सामने तो नहीं आया है, वहीं चिकित्सा विभाग ने यहां बच्चों के RTPCR लेने शुरू कर दिए हैं। पुलिस की मौजूदगी में सोमवार को महात्मा गांधी जिला अस्पताल का लैब स्टाफ मोहन कॉलोनी चौराहे पर सैंपल लिए गए। सुबह के समय जब जल्दबाजी में कामकाज के लिए निकले बड़े लोगों ने नमूने देने से मना कर दिया तो पुलिस ने स्कूल जा रहे ऑटो को रूकवा लिया। इसके बाद धड़ाधड़ कर टारगेट पूरे करने के लिए नमूने लेने शुरू कर दिए। करीब आधे घंटे तक बच्चों के नमूने लिए गए। इससे समय पर घर से निकले बच्चे देरी से स्कूल पहुंच सके।

RTPCR जांच को लेकर अनजान बच्चे एक बार तो घबरा गए। बाद में समझाने पर मुंह खोला।
RTPCR जांच को लेकर अनजान बच्चे एक बार तो घबरा गए। बाद में समझाने पर मुंह खोला।

दिन भर का 1000 टारगेट

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से जिला अस्पताल की लैब को प्रतिदिन 200 नमूने लेने का टारगेट मिला हुआ है। इसे लेकर विभाग की ओर से प्रतिदिन एक चौराहे पर पुलिस की मदद से वाहन सवारों को रेंडम चेकिंग के नाम से रोका जाता है। उनके नमूने लिए जाते हैं। उनका रिकॉर्ड मेंटेन होता है। इसके बाद उनके मोबाइल नंबर पर शाम तक उनकी रिपोर्ट भेजी जाती है। सोमवार को कुछ बच्चों को उनके परिजनों के मोबाइल नंबर याद नहीं थे तो नर्सिंग स्टाफ ने बच्चों से उनके स्कूल और क्लास का नाम पूछकर रिकॉर्ड पूरा किया। वहीं जिले की 12 CHC, PHC और ब्लॉक लेवल के हिसाब से प्रतिदिन एक हजार RTPCR का लक्ष्य पूरा किया जा रहा है।

स्कूली बच्चों से पूछताछ कर उनका रिकॉर्ड बनाता नर्सिंग स्टाफ।
स्कूली बच्चों से पूछताछ कर उनका रिकॉर्ड बनाता नर्सिंग स्टाफ।

रैंडम सैंपल का पार्ट
मामले में जिला अस्पताल के लैब प्रभारी डॉ. समीर खान ने बताया कि कुछ राज्यों में स्कूली बच्चों में संक्रमण सामने आया था। इसके बाद कलेक्टर के आदेश पर विभागीय टीम स्कूल जाने वाले बच्चों की रैंडम RTPCR जांच कर रही है। अब तक चार बार बच्चों के सैंपल लिए जा चुके हैं। यह केवल एहतियात है।

मोहन कॉलोनी चौराहे पर दुपहिया सवार महिला का लिया गया कोरोना टेस्ट।
मोहन कॉलोनी चौराहे पर दुपहिया सवार महिला का लिया गया कोरोना टेस्ट।