कुएं से निकली थी दो बच्चों की मां की लाश:पीहर पक्ष ने ससुराल पर लगाया हत्या का आरोप, FIR दर्ज होने पर ही पोस्टमार्टम को राजी हुए

बांसवाड़ा8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सज्जनगढ़ थाना क्षेत्र के कसारवाड़ी में सर्च ऑपरेशन करती SDRF की टीम की कार्रवाई देख जुटी भीड़। - Dainik Bhaskar
सज्जनगढ़ थाना क्षेत्र के कसारवाड़ी में सर्च ऑपरेशन करती SDRF की टीम की कार्रवाई देख जुटी भीड़।

सज्जनढ़ थाना क्षेत्र के कसारवाड़ी में कुएं में कूदी दो बच्चों की मां के मामले में नया मोड़ आ गया है। पीहर पक्ष ने हत्या कर विवाहिता को कुएं में फेंकने का गंभीर आरोप लगाया। विवाद के चलते ही दूसरे दिन यानी रविवार को कुएं से शव तो बाहर निकाल लिया गया, लेकिन पोस्टमार्टम नहीं हुआ। परिवार मामले में पहले हत्या की FIR दर्ज करने की जिद पर अड़ा रहा। शाम करीब 4 बजे पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर निष्पक्ष कार्रवाई का आश्वासन दिया। तब कहीं जाकर पीहर पक्ष पोस्टमार्टम के लिए राजी हुआ।

कसारवाड़ी के करीब 45 फीट गहरे में कुएं में शव तलाशते गोताखोर।
कसारवाड़ी के करीब 45 फीट गहरे में कुएं में शव तलाशते गोताखोर।

डेढ़ साल से पीहर थी, घटना के दिन ही ससुराल आई थी

थानाधिकारी रूपलाल ने बताया कि शनिवार शाम कसारवाड़ी चौकी प्रभारी प्रेमपाल को स्थानीय प्रीति (35) पत्नी भरत के कुएं में कूदने की सूचना मिली। मौके पर पहुंची पुलिस को जानकारी मिली की प्रीति बीते डेढ़ साल से सल्लोपाट थाना क्षेत्र के लंकाई गांव स्थित उसके पीहर रह रही थी। वह घटना के दिन ही ससुराल आई थी। ससुराल वालों की ओर से दो बच्चों की मां प्रीति के कुएं में खुद कूदने की जानकारी दी गई थी। यहां करीब 45 फीट कुआं गहरा होने के कारण उसी दिन शव निकालना संभव नहीं हुआ। बाद में रविवार को 3 घंटे की कोशिशों के बाद SDRF की टीम ने शव को बाहर निकाला।

तीन घंटे की कोशिशों के बाद SDRF की टीम ने कुएं से निकाला शव।
तीन घंटे की कोशिशों के बाद SDRF की टीम ने कुएं से निकाला शव।

अड़ा रहा परिवार
इससे पहले पुलिस ने मामले में पीहर पक्ष को सूचित किया। तब कहीं जाकर पीहर का परिवार मौके पर पहुंचा। मामले में पीहर पक्ष ने बेटी की हत्या करने के बाद शव को कुएं में फेंकने के आरोप लगाए। वे मामले में कलेक्टर और SP को ही रिपोर्ट देने की जिद करते रहे। पुलिस ने परिवार को समझाया कि आपकी शिकायत पर तुरंत FIR दर्ज कर निष्पक्ष जांच शुरू कर दी जाएगी। इसके बाद पीहर पक्ष पोस्टमार्टम को राजी हुआ। मौके से विवाद को निपटाने के लिए पुलिस ने शव को जिला अस्पताल के पोस्टमार्टम कक्ष में शिफ्ट कराया।