जाखड़ की गलत बयानबाजी से कांग्रेस को हुआ नुकसान:पंजाब प्रभारी बोले- धर्म के आधार पर सीएम की घोषणा, झूठ है

बांसवाड़ा3 महीने पहलेलेखक: विजयपाल डूडी

पंजाब में चुनाव हार के बाद पूर्व अध्यक्ष सुनिल जाखड़ ने पार्टी की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया। जाखड़ ने कांग्रेस पर भी सवाल खड़ा किया है। बेणेश्वरधाम में राहुल गांधी की सभा में आए पंजाब प्रभारी व बायतू विधायक हरीश चौधरी ने दैनिक भास्कर से इस मुद्दे पर बात की। उन्होंने कहा कि जाखड़ ने गलत बयानबाजी की, जिससे पार्टी को ही नहीं बल्कि पंजाब का भी नुकसान हुआ है। राजस्थान में 2023 में होने वाले चुनाव किसके नेतृत्व में लड़ा जाएगा, जिस पर चौधरी ने कहा कि केवल कांग्रेस के झंडे के नीचे चुनाव लड़ा जाएगा।

सवाल- उदयपुर में चिंतन शिविर हुआ, आप शामिल थे, क्या कांग्रेस वापसी करेगी?
चौधरी- शिविर में हमने चर्चा की है, 6 कमेटी बनी है। जो भी हमारी कमियां थी, उसके बारे में भी चर्चा की है, पार्टी ने निर्णय भी लिया है। पार्टी अब भारत जोड़ो कार्यक्रम पूरे देश में चलाएगी। हम लोगों के बीच जाकर फिर से विश्वास कैसे पैदा करें। यह काम हम करेंगे। लोगों से जुड़ाव में कमी आई है, यह हमने स्वीकार किया है। कुछ डिपार्टमेंट बनाने के फैसले लिए हैं। युवाओं को राजनीति में जोड़ने के लिए फैसले लिए हैं।

सवाल- आपको मुख्यमंत्री ने ऑफर किया कि रघु शर्मा और आप कभी भी मंत्रिमंडल में आ सकते हैं?
चौधरी- यह मेरा अधिकार नहीं हैं। यह पार्टी का विचार है। पार्टी ने मुझे संगठन में काम करने का अवसर दिया है। मैंने संगठन में काम किया। फिर मुझे मंत्री बनाया। अब फिर से संगठन का काम दे रखा है उसको भी निभा रहा हूं। इसमें मेरा अधिकार क्षेत्र हीं है। पार्टी जहां मुझे काम करने का अवसर देगी, वहां तन, मन से काम करूंगा।

सवाल- पंजाब के बड़े लीडर, पूर्व अध्यक्ष जाखड़ ने इस्तीफा दिया है और पार्टी के लोकतंत्र पर सवाल उठाए हैं?
चौधरी- जाखड़जी का तो कृत्य रहा है, उन्होंने जिस भाषा का उपयोग लिया है। जो विवाद पैदा किया है। धर्म के आधार पर मुख्यमंत्री बनाने का फैसला पार्टी ने नहीं किया, यह बिलकुल झूठ है, धर्म के आधार पर मुख्यमंत्री का फैसला पार्टी ने नहीं लिया। ये उनके बीच कोई गलतफहमी थी। मैं पूरी प्रक्रिया में शामिल था।

सवाल- क्या जाखड़ की वापसी के लिए पार्टी कोशिश करेगी या कर रही है?
चौधरी- जाखड़ ने जो चुनाव में और चुनाव के बाद जो विवाद उत्पन्न किया है, जिसके बाद कमेटी ने उन्हें नोटिस दिया। जिसके बाद कमेटी ने सभी पदों से हटाने का फैसला लिया, जिसके बाद हटाया गया।

सवाल- क्या आपको लगता है की जाखड़ की बयानबाजी से पंजाब हार गए?
चौधरी- नहीं, लेकिन उनके बयान से जो विवाद उससे कांग्रेस को नुकसान हुआ है। कांग्रेस को ही नहीं पंजाब को भी नुकसान हुआ है।

सवाल- राजस्थान में 2023 का चुनाव किस के नेतृत्व में होगा?
चौधरी- कांग्रेस पार्टी एकजुटता के साथ लड़ेगी। कांग्रेस के झंडे के नीचे सभी नेता चुनाव लड़ेंगे।