पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

संभाग काे मजबूती देनी थी:रघुवीर मीणा प्रदेशाध्यक्ष से चूके ताे घाेघरा काे मिला यूथ कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष का पद

बांसवाड़ा10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ बगावत कर सचिन पायलट के साथ जा चुके प्रदेश युवा कांग्रेस के अध्यक्ष मुकेश भाकर को मंगलवार को पद से हटा दिया है। डूंगरपुर विधायक गणेश घोघरा को नया अध्यक्ष नियुक्त कर दिया है। शहर से 18 किमी दूर मझौला गांव में इनके यूथ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बनने से उत्साह नजर आया। दाे दिन पहले राजनीतिक भूचाल के बाद संभाग के कद्दावर नेता रघुवीर मीणा के पीसीसी अध्यक्ष बनने की चर्चाएं चली थी। 

पर, वाे हाे नहीं सका। संभाग में मजबूती देने की मंशा के साथ जातिगत समीकरणाें के तहत अादिवासी वर्ग काे माैका मिलना था। वहीं यूथ कांग्रेस के जिलाध्यक्ष कार्यकाल के दाैरान घाेघरा की सक्रिय भूमिका रही। पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशाेक चांदना के भी करीबी रहे। वहीं, यहां जिलाध्यक्ष सहित गहलाेत की टीम के लाेगाें की भी पसंद थे। युवा विधायकाें में सबसे तेज थे और हाल ही हुए प्रदेश अध्यक्ष चुनाव में  प्रत्याशी भी रहे थे।

विधानसभा चुनाव में 27 हजार 898 वोटों से दिलाई थी रिकाॅर्ड इकलाैती जीत

घोघरा को प्रदेशाध्यक्ष बनाने की सूचना आने के बाद बधाइयों का दौर शुरू हो गया। पिछले विधानसभा चुनाव में अचानक से टिकट लेने के बाद से गणेश घाेघरा सुर्खियाें में आए है। घोघरा ने राजनीति कॅरियर की शुरुआत 22 वर्ष की उम्र में वर्ष 2006 में एनएसयूआई जिलाध्यक्ष के रूप में की। तब से संगठन के सक्रिय सदस्य के रूप में जुड़ गए।  घोघरा को यूथ कांग्रेस की सूची और अनुशंसा से विधानसभा चुनाव का टिकट मिला। इसको सही साबित करते हुए रिकॉर्ड मत 27 हजार 898 वोटों से जीत हासिल की है। अब तक इतने मतों से किसी ने भी जीत दर्ज नहीं की है।

मंत्रीमंडल विस्तार में मालवीया काे मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी

बांसवाड़ा. गहलाेत सरकार में गुरुवार काे मंत्रीमंडल का विस्तार हाेगा। इसमें अब नए चेहराें के साथ उन पुराने चेहराें काे भी शामिल किया जा सकता है, जिन्हें पहले मंत्रीमंडल में जगह नहीं दी गई। इस स्थिति में बागीदाैरा विधायक महेंद्रजीतसिंह मालवीया काे मंत्रीमंडल में शामिल करने की संभावनाओं ने जाेर पकड़ लिया है। मालवीया काे पहले पायलट खेमे में बताया जाता था, लेकिन सत्ता के टकराव में वे पूरी तरह गहलाेत के साथ खड़े नजर आए। इसका ताेहफा उन्हें मिल सकता है।

हालांकि इसमें यह पेंच भी फंस सकता है कि एक जिले में दाे मंत्री कैसे बनाए। मंत्री पद की चाह रखने के लिए पायलट गुट के और निर्दलीय विधायकाें की भी फेहरिस्त है। वहीं दूसरी मुश्किल गहलाेत की बाड़ेबंदी से लाैटे बीटीपी के दाे विधायक भी है। सरकार काे बीटीपी के दाे विधायकाें का समर्थन लेना है ताे एक काे माैका देना पड़ सकता है। ऐसे में सवाल यह भी उठता है कि वर्तमान टीएडी मंत्री अर्जुनसिंह बामनिया मंत्रीमंडल में बने रहेंगे या नहीं। हालांकि गहलाेत खेमे में हाेना बामनिया का मजबूत पक्ष हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

    और पढ़ें