पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हेड कांस्टेबल के समर्थन में उतरी भाजयुमो:कुशलगढ़ विधायक रमीला के खिलाफ कार्रवाई का उठाया मुद्दा, पुलिस कर्मचारी को न्याय दिलाने की मांग पर उतरे

बांसवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विधायक रमीला खड़िया के खिलाफ एसपी को ज्ञापन साैंपते भाजयुमो के नगर पदाधिकारी। - Dainik Bhaskar
विधायक रमीला खड़िया के खिलाफ एसपी को ज्ञापन साैंपते भाजयुमो के नगर पदाधिकारी।

कुशलगढ़ विधायक (निर्दलीय) रमीला खड़िया का नाकाबंदी में तैनात हेड कांस्टेबल को थप्पड़ मारने का मुद्दा ठंडा पड़ता नहीं दिख रहा। प्रदेश की कांग्रेस सरकार के समर्थन में खड़ी विधायक को घेरने के लिए भाजपा रणनीति से वार कर रही है।

घटना के तुरंत बाद स्थानीय भाजपा के पदाधिकारियों के अलावा विधानसभा के प्रतिपक्ष नेता गुलाबचंद कटारिया इस घटना का विरोध कर चुके हैं, लेकिन सरकार के समर्थन वाली गणित के बीच विधायक की जांच को ठंडे बस्ते में जाता देख शुक्रवार को भाजयुमो ने मोर्चा संभाला।

भाजयुमो नगर मंडल ने संगठन के वरिष्ठों के साथ एसपी को ज्ञापन सौंपा। इसमें पुलिस जवान के प्रति हमदर्दी जताते हुए भाजयुमो ने विधायक के खिलाफ नियमानुसार एवं प्रासंगिक कार्रवाई का दबाव बनाया। एसपी कावेंद्र सिंह सागर को सौंपे ज्ञापन में भाजयुमो ने आरोप लगाया कि पुलिस का हेड कांस्टेबल नाकाबंदी में ड्यूटी पर था। तब विधायक के भांजे को रोककर पूछताछ करना जवान का धर्म था। इसके विपरीत केवल भांजे को रोक लेने मात्र से खफा विधायक का कांस्टेबल पर पलट वार कर थप्पड़ जड़ देना राजनीति के नियमों के विरुद्ध है।

भाजयुमो ने हमदर्दी जताते हुए कहा कि पुलिस जवान कोरोनाकाल में दिन-रात खुद को जोखिम में डालकर नाकाबंदी पर धर्म निभा रहे हैं, लेकिन, गरिमामय पद पर बैठे लोगों की ऐसी हरकतों से पुलिस का मनोबल गिर रहा है। मामले में एसपी की ओर से भाजयुमो को उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया गया। गौरतलब है कि सोमवार रात को नाकाबंदी के दौरान हेड कांस्टेबल से विधायक के भांजे सुनील का विवाद हुआ था। इस सूचना पर मौके पर पहुंची विधायक खड़िया ने हेड कांस्टेबल को थप्पड़ जड़ दिया। तबसे यह मामला सुर्खियों में बना हुआ है।

खबरें और भी हैं...