घुमन्तू परिवारों ने रहने के लिए मांगा स्थायी ठिकाना:तीन मौतों का दिया हवाला, बोले: अब वह काल का ग्रास नहीं होना चाहते

बांसवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घाटोल SDM विजयेश पंड्या को स्थायी आवास देने की मांग करते घुमंतु परिवार। - Dainik Bhaskar
घाटोल SDM विजयेश पंड्या को स्थायी आवास देने की मांग करते घुमंतु परिवार।

घाटोल में रहने वाले गाड़िया लुहारों ने सरकार से आवासीय भूखण्डों की मांग की है। SDM विजयेश पंड्या को बुधवार को ज्ञापन देकर घुमंतू परिवारों ने प्रशासन गांव के संग अभियान के दौरान ही इस प्रक्रिया को पूरा कराने की मांग की है। जगदीश लुहार के नेतृत्व में पहुंचे परिवारों ने SDM के सामने उस दुर्घटना का भी हवाला दिया जिसमें सड़क किनारे से सो रहे घुमंतू परिवार के तीन लोगों की ट्रोला पलटने से मौत हो गई थी।

इस दुर्घटना में एक युवक के हाथ-पैर टूटने की भी बात कही गई। पीड़ित परिवारों ने बताया कि अभी तक वह NH 113 के किनारे रह रहे थे, लेकिन रोड के विस्तार के बाद यहां रहने की जगह लगभग खत्म हो गई है। ऐसे में परिवार को खुले में लेकर रहना अब चुनौती भरा बना हुआ है। प्रभावित परिवारों ने आरोप लगाया कि इससे पहले भी उनकी ओर से आवासीय भूखण्ड को लेकर प्रार्थना-पत्र दिए जा चुके हैं, लेकिन इन गरीबों की कोई सुनवाई नहीं करता है।

उन्होंने SDM का ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि तहसील कार्यालय के पटवार हल्का घाटोल में पड़त में राजकीय भूमि मौजूद है। लेकिन, उनकी स्थायी बस्ती बनाने की मांगों को हमेशा अनदेखा किया जाता है। स्थानीय भू-माफियाओं के दबाव में आकर तहसील स्तर पर ऐसी मांग की अनदेखी होती है। इस बार प्रार्थना-पत्र के साथ वह लोग घाटोल में मौजूद सरकारी खाते की सूची भी दे रहे हैं। उन्होंने विकल्प के तौर पर कानजी का गड़ा, देवदा, सेनवासा जैसे पटवार हल्का जैसे इलाकों में बसने पर भी सहमति दी है। मामले में SDM पंड्या की ओर से लोगों को उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया गया।

कंटेंट: किशोर बुनकर (घाटोल)

खबरें और भी हैं...