जमीन की धोखाधड़ी कर ऐंठे 30 लाख:रजिस्ट्री नहीं कराई, घर छोड़कर बेटों के साथ गायब हुआ सरकारी टीचर

बांसवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डेमो पिक। - Dainik Bhaskar
डेमो पिक।

सरकारी टीचर के खिलाफ 30 लाख की धोखाधड़ी का मामला दर्ज हुआ है। टीचर ने उसके लड़कों के माध्यम से एक व्यापारी के नाम पर खेतीहर जमीन का सौदा कराया। बदले में व्यापारी से जमीन की पूरी कीमत ले ली, लेकिन रजिस्ट्री कराने के नाम पर पहले तो झांसा देते रहे। टीचर पर व्यापारी ने दबाव बनाया तो वह विभाग से वोलंट्री रिटायरमेंट लेकर बच्चों सहित पैतृक घर छोड़कर बाहर चला गया।

मामला सज्जनगढ़ थाने का है। ASI अब्दुल मुनाफ ने बताया कि टांडा रत्ना निवासी प्रवीण लबाना ने रिपोर्ट दी है। बताया कि आंजना निवासी उसके परिचित खुशपाल लबाना के जरिए उसकी आंजना के धनपाल शाह से मुलाकात हुई थी। दोस्ती हुई तो धनपाल उसके दो बेटे प्रतीक और निखिल के साथ उसके घर मिलने आया। आरोपी धनपाल ने उसके खाते की 10 बीघा जमीन का सौदाकर घर की जरूरतों को पूरा करने की बात कही। इस पर उसने जमीन का सौदा 30 लाख रुपए में तय किया। बकायदा आरोपियों को पूरा भुगतान किया।

गवाहों की मौजूदगी में आरोपियों ने 15 दिन में जमीन की रजिस्ट्री करवाने का आश्वासन दिया। इस बीच आरोपी धनपाल की कसारवाड़ी से पोस्टिंग गढ़ी हो गई। तब उसने एक और आश्वासन दिया कि रजिस्ट्री नहीं करा पाए तो रिटायरमेंट पर पूरा पैसा लौटा देंगे। सज्जनगढ़ ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय से पता चला कि धनपाल ने स्वैच्छिक रिटायरमेंट ले लिया है। वहीं सरकार से मिलने वाला पूरा भुगतान भी ले लिया है। ज्यादा जानकारी पर पता चला कि आरोपी का पुत्र प्रतीक उदयपुर चला गया है, जबकि धनपाल खुद उसके बेटे निखिल के साथ प्रतापगढ़ चला गया है। वह पैतृक मकान में चोरी छिपे रात के समय आता है। आरोप है कि जमीन की रजिस्ट्री कराने से बच रहे धनपाल की नीयत शुरू से ही खराब थी। प्रवीण ने बताया कि उसने आरोपी के बैंक खाते से चैक भी बाउंस कराया है।