गुजरात में बायपास पर बरसात से बेकाबू हुए वाहन:रोडवेज, ट्रक सहित 6 गाड़ियां फिसलन से भिड़ीं, दो ड्राइवरों की मौत, 48 सवारी घायल

बांसवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गुजरात के लीमड़ी-लीमखेड़ा के बीच बायपास पर दुर्घटनाग्रस्त बांसवाड़ा डिपो की रोडवेज बस। - Dainik Bhaskar
गुजरात के लीमड़ी-लीमखेड़ा के बीच बायपास पर दुर्घटनाग्रस्त बांसवाड़ा डिपो की रोडवेज बस।

बांसवाड़ा से सूरत (गुजरात) को जोड़ने वाले हाई-वे के लीमड़ी-लीमखेड़ा बायपास पर मंगलवार देर रात को एक-एक कर छह वाहनों की आपस में भिड़ंत हो गई। करीब 5 दिन पहले थाला गांव में ताजी बनी सड़क के खास हिस्से में बरसात के कारण फिसलन बढ़ गई। इससे वाहन एक स्थान पर अनियंत्रित होते चले गए। हादसे का शिकार सूरत से लौट रही बांसवाड़ा डिपो की रोडवेज बस भी हुई, जो सामने से आ रहे ट्रक से भिड़ी। दुर्घटना में दोनों ड्राइवरों की मौके पर मौत हो गई। रोडवेज बस के ड्राइवर की पहचान कुशलगढ़ क्षेत्र निवासी बंशीलाल के तौर पर हुई है। सवारियों में किसी के गंभीर हताहत होने की जानकारी नहीं है। गुजरात रोडवेज में सवार करीब 35 सवारियां गंभीर होने की जानकारी है, जबकि राजस्थान रोडवेज की बस में सवार केवल 13 लोग घायल हुए।

ठीक उसी मौके पर क्षतिग्रस्त हुआ लोडिंग टैंपो।
ठीक उसी मौके पर क्षतिग्रस्त हुआ लोडिंग टैंपो।

आंखें खुली तो दिखा मंजर

बांसवाड़ा की रोडवेज बस सूरत से रात करीब 9 बजे बांसवाड़ा को निकली थी। साढ़े 3 बजे बस लीमखेड़ा से लीमड़ी की ओर बढ़ रही थी। यहां थाला गांव से गुजरते बायपास पर ड्राइवर बंशीलाल ने जैसे ही ब्रेक मारा रोडवेज अनियंत्रित हो गई। वह सीधे सामने आ रहे ट्रक में जा घुसी। बस में करीब 37 सवारियां थीं। एक्सीडेंट होते ही सीटें उखड़कर इधर-उधर हो गईं। तभी दो और वाहन रोडवेज के किनारों से टकराए। इसके बाद भयभीत सवारी ने इमरजेंसी गेट से कूदकर खुद की जान बचाई।

एक्सीडेंट के बाद रोडवेज बस में टूटकर आपस में भिड़ी सवारी सीट।
एक्सीडेंट के बाद रोडवेज बस में टूटकर आपस में भिड़ी सवारी सीट।

पहले से दो वाहन भिड़े हुए थे

बायपास पर बरसात हो रही थी। इससे नई बनी सड़क के कुछ हिस्से पर पानी भरने के साथ फिसलन बनी तो पहले लोडिंग टैम्पो और एक वाहन वहां आकर भिड़े। पीछे से रोडवेज बस और ट्रक मौके की तरफ बढ़ते गए। दो वाहनों को भिड़ा देखकर चालक ने जैसे ही ब्रेक लगाया बस और आगे को फिसलती चली गई। इसके बाद गुजरात रोडवेज बस भी यहां आकर भिड़ गई। तभी घायलों की संख्या एकदम से बढ़ गई। मौके पर अफरा-तफरी का माहौल बन गया।

रोडवेज को JCB की मदद से बाहर निकालने के होते प्रयास।
रोडवेज को JCB की मदद से बाहर निकालने के होते प्रयास।

पुराना और अनुभवी ड्राइवर

ड्राइवर बंशीलाल रोडवेज के पुराने और अनुभवी ड्राइवर थे। रोडवेज बस चलाने का उनका अनुभव करीब 30 साल पुराना था। इधर, कंडेक्टर विकास के सीने में चोट लगी है। सूचना पर रोडवेज के ATI ऋषभ जैन भी मौके को रवाना हुए। इससे पहले कंडेक्टर ने JCB की मदद लेकर रोडवेज बस को एक किनारे पर कराया।

खबरें और भी हैं...