धर्म-कर्म:चैत्र नवरात्र में की गई खरीदारी रहेगी शुभ और फलदाई

बांसवाड़ा7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आज घट स्थापना के साथ ही पूजा शुरू होगी, नवरात्र में ग्रह नक्षत्रों की शुभ स्थिति के कारण हर दिन शुभ योग बन रहे हैं

चैत्र शुक्ल प्रतिपदा मंगलवार से बसंत नवरात्र व भारतीय नव संवत्सर के शुभारंभ के साथ ही खरीदारी के लिए अश्विनी नक्षत्र ,सर्वार्थसिद्धि व अमृत सिद्ध योग का विशेष संयोग बन रहा है। इस दौरान खरीदारी मंगलदायी होगी। ज्योतिषाचार्यों का कहना है कि घट स्थापना के साथ नौ देवियों की पूजा शुरू हो जाएगी। नवरात्र में ग्रह नक्षत्रों की शुभ स्थिति के कारण हर दिन शुभ योग बन रहे हैं। इस कारण खरीदारी के लिए हर दिन शुभ मुहूर्त रहेगा।

ज्योतिषाचार्य के अनुसार नवरात्र में तिथि, वार और नक्षत्रों के संयोग से हर दिन खरीदारी के लिए शुभ मुहूर्त बन रहे हैं। सिद्धि योग विशेष शुभता प्रदान करने वाला और हर कार्य में लाभ देने वाला माना गया है। सर्वार्थ सिद्धि योग का संबंध मां लक्ष्मी से होता है। इस योग में कार्य का आरंभ करने से वह कार्य सिद्धि देने वाला और सफल माना जाता है।

नवरात्र में किस दिन करें कौनसी खरीदारी

  • 13 अप्रैल: भूमि भवन के क्रय विक्रय के लिए शुभ मुहूर्त है।
  • 14 अप्रैल: वाहन क्रय, शृंगार के सामान, बर्तन, सोना, चांदी, इलेक्ट्रॉनिक सामान खरीदना चाहिए। सगाई संबंध भी किए जा सकते हैं ।
  • 15 अप्रैल: कंप्यूटर, व्यावसायिक उपकरण, भूमि भवन की रजिस्ट्री आदि का कार्य करना फलदायी रहेगा। सगाई रोका के कार्य भी किए जा सकते हैं।
  • 16 अप्रैल: वाहन एवं भूमि भवन का खरीदने के लिए श्रेष्ठ मुहूर्त है।
  • 17 अप्रैल: संपत्ति बेचने के लिए शुभ समय रहेगा।
  • 19 अप्रैल: वर-वधु वरण, आभूषण आदि के क्रय करना सुख-समृद्धि दिलाएगा।
  • 20 अप्रैल: इस दिन भूमि भवन का क्रय-विक्रय करना चाहिए।
  • 21 अप्रैल: रामनवमी का दिन सभी श्रेष्ठ कार्यों का अबूझ मुहूर्त है। सभी श्रेष्ठ कार्य सगाई संबंध, रोका, गृह प्रवेश गृहारंभ किए जा सकते हैं।

किस दिन आएंगे कौन से योग
13 अप्रैल: कुमार योग सूर्योदय से दिन के 10:17 तक रहेगा। सर्वार्थ सिद्धि व अमृत सिद्धि योग सूर्योदय से दोपहर 2:19 तक रहेगा ।
14 अप्रैल: सर्वार्थ सिद्धि सूर्योदय तक रहेगा। राजयोग शाम 5:22 से शुरू होगा।
16 अप्रैल: कुमार योग शाम 6:06 से रात 11:40 बजे तक ।
17 और 21 अप्रैल: को रवि योग रहेगा।

त्रिपुरा सुंदरी मंदिर में दोपहर 12 बजे घट स्थापना
चैत्र नवरात्र के अवसर पर मंगलवार सुबह जिले के त्रिपुरा सुंदरी मंदिर सहित प्रमुख देवी मंदिरों और शक्तिपीठों पर शुभ मुहूर्त में घट स्थापना की जाएगी। त्रिपुरा सुंदरी ट्रस्ट मंडल के अध्यक्ष दिनेश पंचाल और महामंत्री राजेंद्र प्रसाद पंचाल ने बताया कि मंदिर में नवरात्र के मद्देनजर मंगलवार दोपहर 12 बजे घट स्थापना की जाएगी।

इधर, अंबा माता मंदिर बांसवाड़ा के पुजारी पंडित नरेश दवे ने बताया कि मंगलवार सुबह 6 बजे कलश स्थापना की जाएगी। वहीं सुबह सवा सात बजे आरती होगी और कोविड19 गाइड लाइन के अनुसार दर्शन की व्यवस्था की है। शाम 7 बजे आरती होगी और अष्टमी पर हवन और बैठक गरबे होंगे।

खबरें और भी हैं...