भाभी से दूसरी शादी की, पत्नी-बच्चे को घर से निकाला:भाई की मौत के बाद अकेली थी भाभी, बीमारी में पत्नी का इलाज भी नहीं कराया

बांसवाड़ा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सज्जनगढ़ थाना। - Dainik Bhaskar
सज्जनगढ़ थाना।

सज्जनगढ़ थाना क्षेत्र के सातसेरा खुर्द में एक युवक ने विधवा भाभी के साथ न सिर्फ विवाह किया, बल्कि खुद की पत्नी और बच्चे को घर से बेदखल कर दिया। पीड़ित पत्नी की रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपी, सौतन (संका) और ससुर के खिलाफ दहेज की मांग को लेकर प्रताड़ित करने का मामला दर्ज किया है। मामले की जांच खुद थानाधिकारी SI रूपलाल कर रहे हैं।

सातसेरा खुर्द हाल धाड़की, मूनियाखूंटा (पिता के घर) निवासी दला पत्नी विनोद सिंगाड़ा ने पुलिस को दी रिपोर्ट में बताया कि करीब 3 साल पहले सामाजिक रीति-रिवाज से उसका सातसेराखुर्द निवासी विनोद के साथ विवाह हुआ था। इससे दोनों के बीच एक संतान भी हुई।

इसके बाद आरोपी पति विनोद ने उसके भाई (जेठ) की मौत के बाद विधवा भाभी संका के साथ विवाह कर लिया। वहीं ससुर कोम सिंह ने भी पति के इस फैसले का समर्थन किया। इसके बाद पति, सौतन और ससुर तीनों मिलकर पीड़िता से दहेज के रुपए लाने की मांग करने लगे। इस बीच वह बीमारी भी हुई तो किसी ने भी उसका उपचार नहीं कराया। करीब 8 महीने पहले ससुराल में सफाई करते समय आरोपियों ने मिलकर उससे मारपीट की। वहीं पिता से दहेज लाने की बात कहते हुए उसे और उसके बच्चे को घर से बेदखल कर दिया। अब वह मजबूरी में पिता के घर रह रही है।