पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

अपराध:बुजुर्ग को लूटने वालों पर बांसवाड़ा में छह केस, जिले में पहली वारदात में ही पकड़े गए

बांसवाड़ा/डूंगरपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आरोपी बांसवाड़ा में चलाते हैं फ्रूट का ठेला, लॉकडाउन के बाद रुपए नहीं होने के कारण बनाई प्लानिंग

आसपुर के बुजुर्ग से 45 हजार रुपए से भरा थैला छीनने वाले बांसवाड़ा के दोनों आरोपी दोस्त है। इन पर बांसवाड़ा जिले में छह केस दर्ज है। वहां पर पुलिस के बढ़ते दबाव के बाद इन्होंने डूंगरपुर जिले में वारदात करने की योजना बनाई। हालांकि यहां पर पहला केस करते ही यह पकड़े गए। पूछताछ़ में दोनों आरोपियों ने कई चौंकाने वाली जानकारी दी।

बांसवाड़ा जिले में लाखों रुपए के सामान की लूट करने के बाद दोनों आरोपी दोस्त पुलिस की पकड़ में आ गए थे। कुछ समय तक जेल में रहने के बाद लूट का काम बंद कर दिया था। लॉकडाउन में रुपए नहीं होने के कारण फिर से लूट की प्लानिंग बनाई। बांसवाड़ा जिले में लूट की छह वारदात करने व पकड़े जाने के कारण वहां पर लूट की घटना नहीं की।

पड़ोसी डूंगरपुर जिले में लूट की वारदात करने रैकी की। एक-दो जगह पर रैकी करने के बाद आसपुर कस्बे में बुजुर्ग को निशाना बनाया। दरअसल, बांसवाड़ा जिले के अम्बावाड़ी भागाकोट निवासी दीपक पुत्र अमरलाल वागरी, भागाकोट कल्याण कॉलोनी निवासी मोहन पुत्र लक्ष्मण रावल को महाकाल मंदिर के पास से डिटेन कर गिरफ्तार किया। पुलिस की पूछताछ में सामने आया कि आरोपी दीपक व मोहन पुराने दोस्त है। एक ही कॉलोनी के रहने वाले हैं।

मोहन आठवीं व दीपक छठी तक पढ़ा हुआ है। बांसवाड़ा में जवाहर पूल के पास फ्रूट का ठेला लगाते हैं। आरोपी पुराने दोस्त होने के कारण एक साथ मिलकर लूट की छह वारदात की है। ​इसमें तीन वारदात गढ़ी, दो कोतवाली बांसवाड़ा व एक अरथूना थाना क्षेत्र की है। करीब पौने 11 लाख रुपए सामान लूटा था। यहां पर पकड़ में आए गए थे। पुलिस की पूछताछ में सामने आया कि लॉकडाउन के कारण आरोपी दीपक व मोहन के पास पैसे की तंगी थी।

जेब खर्च के लिए पैसे नहीं थे। बांसवाड़ा जिले की छह वारदात में पकड़े जा चुके हैं। ऐसे में वापस बांसवाड़ा जिले में वारदात करने पर पकड़े जाने का डर था। इसलिए बांसवाड़़ा जिले के बजाय पडोसी डूंगरपुर जिले में चोरी की वारदात को अंजाम दिया। वारदात करने के कुछ देर बाद ही तेज गति से बाइक चलाते हुए बांसवाड़ा जिले की सीमा में आ गए। इनको यह लगा था कि पुलिस इनको पकड़ नहीं पाएगी।
साबला बैंक के बाहर रैकी की, इसके बाद आसपुर में की वारदात

आरोपी दीपक व सोहन ने लूट की वारदात करना तय कर लिया था। इसके लिए सबसे पहले साबला बैंक के बाहर रैकी की। यहां भीड़ कम होने पर पकड़े जाने के डर से चले गए। इसके बाद आसपुर बैंक के आसपास जाकर लोगों की रैकी करना शुरू​ किया। इस दौरान बुजुर्ग थैली में रुपए डालता नजर आया। इस पर दोनों आरोपियों ने बुजुर्ग पर पूरा ध्यान रखते हुए आवाजाही नहीं होना देख कर लूट की वारदात की।

नशे के आदी दोनों दोस्त, हिम्मत इतनी कि लूट के बाद एक बाद फिर वारदात करने आए डूंगरपुर में

पुलिस की पूछताछ में सामने आया कि आरोपी दीपक व मोहन नशे के आदी है। नशे में वारदात को अंजाम देते हैं। यह दोनों जुआ खेलने के शौकीन है। लूट की वारदात करने के बाद एक बार फिर लूट के मकसद से डूंगरपुर जिले की सीमा में आए थे, लेकिन वारदात को अंजाम नहीं दे सकें। पुलिस की जांच में सामने आया​ कि यह तेज गति से बाइक चलाने का शौक भी रखते हैं।

अज्ञात बदमाशों की सीसीटीवी फुटेज व बीटीएस लोकेशन के आधार पर तलाश शुरू की गई। चितरी थानाधिकारी भानुप्रताप सिंह व आसपुर थानाधिकारी रिजवान खान की टीम ने संयुक्त प्रयास के जरिये लूट की इस वारदात का खुलासा किया।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें