पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बदली व्यवस्था:23 से 27 फरवरी तक चलेगी नीलामी, एक व्यक्ति एक जिले में दाे दुकानों के लिए ही आवेदन कर सकेगा

बांसवाड़ा17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लॉटरी नहीं, नीलामी से आवंटित हाेंगी शराब की दुकानें

राज्य सरकार ने वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए शराब की दुकानों की लॉटरी प्रक्रिया बदल दी है। प्रदेश में अब शराब की दुकानों की लॉटरी नहीं निकलेगी। दुकानें ऑनलाइन नीलाम हाेगी। नीलामी की प्रक्रिया 23 से 27 फरवरी तक चलेगी। एक व्यक्ति एक जिले में केवल दाे दुकानों के लिए ही आवेदन कर सकेगा।

पूरे प्रदेश के लिए अधिकतम पांच आवेदन पत्र भर सकेगा। राज्य सरकार ने ऑनलाइन नीलामी के लिए भारत सरकार के उपक्रम एमएसटीसी काे अधिकृत किया है। उसके पोर्टल पर 12 फरवरी से ही निशुल्क पंजीयन की सुविधा शुरू हाे गई है।

नीलामी में भाग लेने के लिए आवेदक काे सर्वप्रथम एमएसीटी की वेबसाइट पर अपना पंजीयन करा आईडी व पासवर्ड प्राप्त करना हाेगा। जिसके आधार पर वह शराब की दुकान के लिए आवेदन भर सकेगा। ऑनलाइन नीलामी का आबकारी विभाग काे सबसे बड़ा फायदा यह हाेगा कि अब शराब व्यवसायी ही इस प्रक्रिया में शामिल हाेंगे।

नीलामी प्रक्रिया में हररोज सुबह 11 से शाम 4 बजे तक रोजाना कम से कम पांच घंटे तक बाेली लगेगी। उसके बाद भी जब तक बाेली लगती रहेगी, तब तक दस मिनट के अंतराल के बाद वापस जारी रहेगी। वहीं बोलीदाता काे पिछली बाेली की राशि बढ़ाकर कम से कम 5 हजार रुपए बढ़ा कर बाेली लगानी हाेगी।

लेकिन पिछली बाेली की राशि से पांच प्रतिशत से अधिक की राशि की बाेली नहीं लगाई जा सकेगी। प्रत्येक चरण के लिए निर्धारित नीलामी की दिनांक से एक दिन पूर्व रात 11 बजकर 58 मिनट पर बंद हाे जाएगी।

व्यवसायिक भू-रूपांतरण के बिना भी हाेटल और बार काे मिलेंगे शराब बिक्री के लाइसेंस, अब संभाग स्तरीय कमेटी नहीं हाेगी
राज्य सरकार ने शराब बिक्री के लिए हाेटल व बार लाइसेंस के लिए नियमों में शिथिलता दी है। अब शहरी क्षेत्रों में जहां भू-रूपांतरण पर राेक है तथा वहां हाेटल चल रही है तथा नगरीय विकास विभाग या स्वायत्त शासन विभाग से टिन नंबर ले रखा है ताे आबकारी विभाग उसे शराब बिक्री का लाइसेंस दे देगा।

वहां हाेटल की भूमि का व्यावसायिक प्रयोजनार्थ रूपांतरण आवश्यक नहीं हाेगा। हाेटल व बार के लिए शराब बिक्री का लाइसेंस जारी करने के लिए सरकार ने प्रक्रिया सरल कर दी है। पूर्व में संभाग स्तरीय कमेटी के अनापत्ति प्रमाण-पत्र के बाद आबकारी विभाग लाइसेंस जारी करता था।

उस कमेटी के मुखिया अतिरिक्त आबकारी आयुक्त हाेते थे। सदस्य के रूप में जिला कलेक्टर के प्रतिनिधि के रूप में एसडीएम, जिला आबकारी अधिकारी व आरटीडीसी के प्रतिनिधि हाेते थे। यह कमेटी मौके पर जाकर निरीक्षण करती थी। उसके अनापत्ति प्रमाण-पत्र के आधार पर लाइसेंस जारी हाेता था। अब सरकार ने यह कमेटी ही समाप्त कर दी है। अब जिला आबकारी अधिकारी की रिपोर्ट पर आबकारी आयुक्त सीधे लाइसेंस जारी कर सकेंगे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी विशिष्ट कार्य को पूरा करने में आपकी मेहनत आज कामयाब होगी। समय में सकारात्मक परिवर्तन आ रहा है। घर और समाज में भी आपके योगदान व काम की सराहना होगी। नेगेटिव- किसी नजदीकी संबंधी की वजह स...

    और पढ़ें