• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Banswara
  • The Company Went With HR For Hours, The Death Was Fixed In 3.5 Lakhs, The Post mortem Of The Dead Body Started After 18 Hours, SDM, DSP Also Arrived, Sadar Police Station Still Deployed

BMD मिल में फंदे से लटका मिला युवक:कंपनी HR के साथ घंटों चला भांजगड़ा, साढ़े तीन लाख में तय हुआ मौताणा, 18 घंटे बाद शव का पोस्टमार्टम

बांसवाड़ाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मिल में लगाया गया पुलिस जाब्ता। - Dainik Bhaskar
मिल में लगाया गया पुलिस जाब्ता।

उदयपुर रोड पर मोरड़ी स्थित BMD मिल के स्टेटिक बिन यार्ड में फंदे से लटके मिले शव का 18 घंटे बाद मंगलवार शाम 4 बजे पोस्टमार्टम हुआ। सोमवार रात करीब 10 बजे सदर थाना पुलिस ने मोर्चरी में युवक का शव रखवाया था। मंगलवार को पूरे दिन परिवार, स्थानीय नेताओं और कंपनी HR के बीच भांजगड़ा (मौताणा राशि को लेकर समझौता) का दौर चला। दोपहर 3 बजे के बीच मौताणा साढ़े 3 लाख रुपए में तय हुआ। इसके बाद परिजन पोस्टमार्टम के लिए राजी हुए। इधर, जनजाति समाज से जुड़े युवक की मौत को संजीदा मानते हुए घाटोल उपखण्ड अधिकारी बृजेश पंड्या एवं DSP कैलाश चंद्र, सदर थाना प्रभारी पूनाराम गुर्जर के अलावा हथियारबंद पुलिस जाब्ता मिल के भीतर डटा रहा।

समझौते के बाद मिल के बाहर निकले पीड़ित परिवार के लोग एवं जनप्रतनिधि।
समझौते के बाद मिल के बाहर निकले पीड़ित परिवार के लोग एवं जनप्रतनिधि।

सदर थाना पुलिस ने बताया कि मिल का स्टेटिक बिन यार्ड, जहां पर धागा बनता है। वहां सोमवार रात करीब 8 बजे खाकरिया गढ़ा, ग्राम पंचायत करणपुर, थाना लोहारया निवासी अशोक (27) पुत्र बदामीलाल चरपोटा का शव फंदे से झूलता मिला। स्टाफ की सूचना के बाद मामला पुलिस तक पहुंचा। सदर थाना प्रभारी गुर्जर ने मौके पर पहुंचकर परिजनों को सूचित किया। बाद में शव उतारकर एमजी हॉस्पिटल पहुंचे, जहां डॉक्टर ने युवक को मृत घोषित कर दिया। इस पर पुलिस ने शव को मुर्दाघर में रखवाया। इसके बाद मंगलवार को पूरे दिन भांजगड़ा हुआ। मौके पर SC/ST छात्र यूनियन के प्रकाश बामनिया, NSUI के युवा नेता प्रकाश मईड़ा, रोहिड़ा सरपंच सहित अन्य जनप्रतिनिधि भी मौजूद थे। वहीं बातचीत के लिए कंपनी के HR मनीष स्वामी मौजूद थे। बता दें कंपनी LNJ (भीलवाड़ा) ग्रुप का हिस्सा है।

पोस्टमार्टम रूम के बाहर पीड़ित परिवार के साथ मौजूद सदर थाना पुलिस।
पोस्टमार्टम रूम के बाहर पीड़ित परिवार के साथ मौजूद सदर थाना पुलिस।

ठेकेदार का है कर्मचारी
सदर थाना प्रभारी गुर्जर ने बताया कि मृतक अशोक किसी ठेका एजेंसी के माध्यम से मिल में नौकरी करता था। वह अस्थायी स्टाफ के तौर पर बीते करीब एक साल से सेवाएं दे रहा था। बदामीलाल के परिवार का वह इकलौता बेटा था और दो बेटियां है। वहीं मृतक के भी एक बेटी है। गुर्जर ने बताया कि कंपनी ने इंश्योरेंस के तौर पर युवक को दिए जाने वाले सहयोग के लिए हामी भरी है। मौताणे की बात को लेकर गुर्जर ने जानकारी से इनकार किया।

पोस्टमार्टम रूम के बाहर मौजूद मृतक के रिश्तेदार।
पोस्टमार्टम रूम के बाहर मौजूद मृतक के रिश्तेदार।

6 दिन पहले ही हुई थी बेटी
मृतक के रिश्तेदारों ने बताया कि अभी 6 दिन पहले मृतक अशोक के बेटी हुई थी। पत्नी अभी पीहर में है। सोमवार सुबह युवक उसके ससुराल गया था। वहां सास से पत्नी को साथ ले जाने की बात भी की थी। इसके बाद युवक यहां नौकरी पर आया था। फिलहाल आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चला है। पुलिस का कहना है कि मामला दर्ज किया गया है। जांच के बाद ही कुछ बता पाएंगे। अभी पहली प्राथमिकता शव का अंतिम संस्कार है।

खबरें और भी हैं...