फिर सूने मकान को चोरों ने निशाना बनाया:परिवार बैंगलोर गया था, हाउसिंग बोर्ड में हुई वारदात, ASP बोले होमगार्ड पर करो खर्च

बांसवाड़ा5 महीने पहले
हाउसिंग बोर्ड स्थित आयुर्वेद अस्पताल की गली में स्थित वह मकान, जहां चोरों ने वारदात को अंजाम दिया।

शहर में चोरियों की वारदातें रूक नहीं रही। बीती रात एक बार फिर चोरों ने एक सूने मकान को निशाना बनाया। वारदात हाउसिंग बोर्ड में आयुर्वेद हॉस्पिटल वाली गली में हुई, जहां रहने वाला परिवार बैंगलोर गया हुआ था। मकान पर ताला देखकर रात के समय भीतर घुस गए। मैन गेट का दरवाजा तोड़ने के बाद चोरों ने तीन कमरे और अलमारियों के ताले तोड़कर सामान बिखेर दिया। सुबह के समय पड़ौसियों ने वारदात की सूचना कोतवाली थाने में दी। इसके बाद हाउसिंग बोर्ड पुलिस चौकी के जाप्ते ने मौका मुआयना किया।

चोरों की ओर से बिखेरा गया सामान।
चोरों की ओर से बिखेरा गया सामान।

दरअसल, हाउसिंग बोर्ड निवासी गिरिश गुप्ता को बेटा बैंगलोर में नौकरी करता है। इसलिए परिवार करीब 28 दिन पहले बैंगलोर गया था। परिवार को 4 महीने तक वहीं रूकना है। इधर, रैकी कर चोर मकान में घुस गए। गुप्ता ने बताया कि उनके पीछे घर में नए नोटाें की गड्‌डी रखी थी। तकरीबन 50 हजार रुपए चोरों के हाथ लगे होंगे। उन्होंने कहा कि जेवर आर्टिफिसयल थी। इसलिए उसका कोई नुकसान नहीं हुआ। गौरतलब है कि गुप्ता यहां बैंक ऑफ बड़ौदा से सेवानिवृत्त कर्मचारी हैं और उनका एक ही बेटा है। वह भी नौकरी के लिए बैंगलोर में रहता है।
दूसरी ओर हाउसिंग बोर्ड चौकी प्रभारी SI कन्हैयालाल ने बताया कि चोर मकान से करीब 2 हजार रुपए ले गए हैं। वहीं मौके पर सामान बिखेर दिया है। सूचना के बाद उन्होंने मौका मुआयना किया है।
किराए पर मिलती है होमगार्ड
दूसरी ओर शहर में बढ़ रही चोरियों को लेकर ASP कैलाश सांदू की दलील है कि मकान छोड़कर जाने वाले लोगों को चोरी से बचने के लिए होमगार्ड किराए पर लेनी चाहिए। ताकि होमगार्ड ऐसे मकानों की सुरक्षा कर सके। संभव हो तो आम आदमी को ऐसी घटनाओं से बचने के लिए घरों में कैमरे लगवाने चाहिए। आज के समय में कैमरा लगवाने का कोई बहुत बड़ा खर्च नहीं आता। ASP सांदू ने कहा कि होमगार्ड को किराए पर लेने की व्यवस्था है। यह सुविधा हर आम आदमी के लिए है।

खबरें और भी हैं...