पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Banswara
  • The First Wife Was Pushed Out, The Third Marriage Was Done Without Giving Divorce To The Sitting Wife, The Police Registered A Case On The Report Of The Victim

गर्भ में पल रही संतान को दूसरे की बताया:पहली पत्नी को धक्के देकर घर से निकाला, तलाक दिए बिन कर लिया तीसरा विवाह, पीड़िता की रिपोर्ट पर पुलिस ने दर्ज किया मामला

बांसवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डेमो पिक। - Dainik Bhaskar
डेमो पिक।

गर्भ में पल रही संतान को दूसरे की बताते हुए पहले तो पत्नी से बुरी तरह मारपीट की बाद में उसे धक्के देकर घर से निकाल दिया। पीहर में नाराज होकर बैठी पत्नी को मनाकर घर लाने की बजाए उसे सबक सिखाने के लिए युवक ने चोरी छिपे तीसरा विवाह कर लिया। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

गर्भवती पीड़िता की रिपोर्ट पर भूंगड़ा थाना पुलिस ने मामला दर्ज किया है। दरअसल, मामला भूंगड़ा थाने का है। गनोड़ा हाल पिता के घर भूंगड़ा निवासी आशा मेघवाल का विवाह 3 दिसम्बर 2019 गनोड़ा निवासी जयेश यादव के साथ हुआ था।

शादी के एक महीने बाद ही जयेश और उसके परिवार के पांच लोगों ने आशा के साथ कामकाज को लेकर मारपीट करनी शुरू कर दी। पीहर में बीमार पिता पेमजी मेघवाल की तबीयत और बिगड़ने की चिंता में आशा ससुरालजनों के जुल्म सहन भी करती रही।

तब गर्भ में पल रहे बच्चे को भी जयेश दूसरे का बताकर प्रताड़ित करने लगा। वह मारपीट के दौरान यह भी कहता रहा कि पहली पत्नी भी मर गई थी। उसका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सका। तभी 25 फरवरी को पति जयेश और उसके परिवार ने उसके साथ मारपीट की।

तंग आकर वह उसकी तीन माह की बेटी को लेकर वह उसके पिता के घर आ गई। तबसे वह पिता के घर भूंगड़ा में रह रही है। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि उसके रहते हुए आरोपी जयेश ने पाड़वा निवासी कैलाश नाम की लड़की से तीसरा विवाह कर लिया है। अब तक वह यह सोचकर चुप थी कि उसका पति उसे आकर ले जाएगा। घर टूटने के डर से भी वह पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराने से डर रही थी। अब मजबूर होकर वह थाने में रिपोर्ट दे रही है।

दर्ज किया मामला
भूंगड़ा थानाधिकारी गजवीरसिंह ने बताया कि पीड़िता आशा की रिपोर्ट मिली है। फिलहाल दहेज एक्ट में मामला दर्ज किया है। जांच के दौरान तथ्यों के सामने आने के बाद अन्य धाराएं जोड़ दी जाएंगी।

खबरें और भी हैं...