पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Banswara
  • The Former Rajmata Of Kushalgarh Was No More, The Grandson Gave The Fire, Was The First Woman To Get A Driving License In The District

लाइसेंस प्राप्त:कुशलगढ़ की पूर्व राजमाता नहीं रहीं, पोते ने दी मुखाग्नि, जिले में सबसे पहली ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त महिला थीं

कुशलगढ़8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिले के कुशलगढ़ स्वतंत्र राज्य की पूर्व राजमाता 93 वर्षीय निरंजना देवी का शनिवार देर रात जयपुर में निधन हो गया। वे 15 दिन से अस्वस्थ होने के कारण जयपुर के अस्पताल में भर्ती थीं। उनके निधन का समाचार मिलते ही वागड़ में शोक की लहर छा गई। गुजरात बारिया के पूर्व महाराज पोलो खिलाड़ी पृथ्वीराजसिंह की बेटी निरंजनादेवी का विवाह 1945 में कुशलगढ़ के पूर्व महाराज हरेंद्रसिंह राठौड़ से हुआ था। राजमाता निरंजना देवी जिले की पहली ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त महिला थीं।

उनके पति महाराज हरेंद्रसिंह का सामाजिक और राजनीति क्षेत्र में अच्छा प्रभाव था। उनके दो बेटे थे। एक बेटी हैं। राजमाता निरंजनादेवी समाज सेवा और असहायों की मदद के लिए हमेशा तत्पर रहती थीं। वे पिछले कई सालों से जयपुर में ही रहती थीं। उनका अंतिम संस्कार जयपुर में ही किया गया। उनके पोते हेमेंद्रसिंह राठौड़ ने मुखाग्नि दी।

खबरें और भी हैं...