पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

हिंदी दिवस:रात काली है, लंबी, अंधेरी...फिर भी सुबह को आना पड़ेगा

सज्जनगढ़8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • हिंदी दिवस के उपलक्ष्य में शब्दाक्षर संस्था द्वारा ऑनलाइन काव्य गोष्ठी

राष्ट्रीय साहित्यिक संस्था शब्दाक्षर की प्रदेश शाखा द्वारा मंगलवार को हिंदी पखवाड़े के समापन पर काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। गूगल मीट पर हुई ऑनलाइन गोष्ठी की अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार व संस्था के प्रदेश संरक्षक प्रभुलाल बामनिया (उदयपुर) ने की। साहित्य प्रभारी ज्योति शर्मा ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत की। प्रदेश कोषाध्यक्ष मयूर पंवार मयूर ने ‘अपने कांधों पे ही आज बोझा, तुमको जग का उठाना पड़ेगा। रात

काली है, लंबी, अंधेरी फिर भी सुबह को आना पड़ेगा...।’ गीत से सकारात्मकता की बात कही। चीनू शर्मा अदभुत ने ‘जब से होने लगे चार उनसे नयन। तब से पढ़ने लगे प्रीत का व्याकरण...।’ रश्मि शर्मा ने ‘नेह के मोती डाल गया कोई पीड़ाओं के सागर में..., सींच गया अनुरागी अमृत व्याकुलता की गागर में...। प्रदेश उपाध्यक्ष हरीशचंद्र सिंह ने ‘लिपि देवनागरी है, गागर में सागरी है..., हिन्द की तो भाल बिंदी, हिंदी को बताया

हैं...। छंद के माध्यम से अपनी बात कही। इसी प्रकार प्रदेश प्रवक्ता हेमंत पाठक ‘राही’ ने गीत ‘कंप्यूटर वाली दुनिया में इंसानों की कदर कहां...। लिंक सभी मतलब के मारे, संबंधों की नज़र कहां..., प्रस्तुत किया। पीएल बामनिया ने ‘शतरंज में भी कोई इससे बड़ी चाल है ही नहीं, कंघा बेचा उसे जिसके सर पे बाल ही नहीं..., प्रदेश अध्यक्ष राम पंचाल भारतीय ने ‘अक्षर-अक्षर ब्रह्म, बिंदी चंद्र नेह सिक्त..., प्रति एक मात्रा का भी,

अपना विज्ञान है...। छंद के जरिये अपने भाव रखे। इसी तरह संगठन प्रभारी प्रहलाद सिंह अहाड़ा ने ‘हिंद वीर जय करे, दुष्ट दल यूं ही मरे। कण-कण नाद करे, जय हिन्द बोलिए..., प्रदेश सचिव सूर्यकरण सोनी ‘सरोज’ ने देवनागरी लिपि की भाषा है अपनी प्यारी। छब्बीस लेटर वालों से दुगुना इसमें बल...,ज्योति शर्मा ने हृदय से प्रस्फुटित हो बह चली रसधार हिंदी है। मेरे शब्दों में, भावों में, कलम का प्यार हिंदी है। प्रतिज्ञा भट्ट ने

लोकगीत में बसती है, गांवों के आंगन सजती है, पुण्य पावनी सलिला, मन भावों की गागर भरती है...। निधि जोशी ने ‘ज्ञान नहीं बस प्रेम बड़ा है, आज हुआ मुझको विश्वास, गोपी बनकर जन्म में ले लूं और बनूं कान्हा के दास...। रचना के माध्यम से अपनी बात कही। काव्य गोष्ठी का संचालन प्रदेश प्रवक्ता हेमंत पाठक ‘राही’ ने किया। मयूर पंवार ने आभार व्यक्त किया।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में रहेगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा। पिछले कुछ समय से चल रही किसी समस्या का समाधान मिलने से राहत मिलेगी। कोई बड़ा निवेश करने के लिए समय उत्तम है। नेगेटिव- परंतु दोपहर बाद परिस...

और पढ़ें