पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Banswara
  • The Watchman And His 10 year old Son Died Due To Electrocution By An Open Wire Near The Temporary Kitchen Built In The Merge Garden.

दीप वाटिका की घटन:मेरिज गार्डन में बनी अस्थाई रसोई के पास खुले पड़े वायर से करंट लगने से चौकीदार और उसके 10 साल के बेटे की मौत

बांसवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर के रतलाम रोड स्थिति दीप वाटिका में गुरुवार दोपहर एक व्यक्ति और उसके मासूम बेटे की करंट लगने से मौत हो गई। मृतक वाटिका में चौकीदार था। दोनों शव यहां एक कोने में हरी घास पर पड़े हुए थे। परिजनों ने मामले में हत्या की आशंका जताई। घटना की सूचना के बाद बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर जमा हुए। एकबारगी माहौल तनावपूर्ण होता दिखा, लेकिन पुलिस ने परिजनों को समझाइश कर उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। तब कहीं परिजनों ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजने में सहमति जताई।

मरने वाले युवक की पहचान उपला घंटाला निवासी परमेश (37) और टीपू उर्फ राजेश (10) के तौर पर हुई है। दूसरी ओर पूरे मामले को लेकर वाटिका संचालक की ओर से फोन नहीं उठाया गया। गौरतलब है कि रतलाम रोड पर संचालित दीप वाटिका को मूल मालिक की ओर से थर्ड पार्टी को किराए पर दिया हुआ है। परिजनों का आरोप है कि किराएदार संचालक ने वाटिका के पुराने चौकीदार को हटा दिया था।

इसके बाद से परमेश यहां सेवाएं दे रहा था, जिसे लेकर पुराने चौकीदार के साथ कई बार विवाद भी हुआ था। परिजनों ने आरोप लगाया है कि पहले युवक और उसके बेटे की हत्या की गई है। इसके बाद उन्हें करंट लगाया गया है। हालांकि, पुलिस ने मामले में सीसीटीवी रिकॉर्ड तलाशने की बात कही है।

ऐसे मिली सूचना: मरने वाले परमेश के पैतृक निवास पर गुरुवार को शादी समारोह था। उसे घर पहुंचना था, लेकिन वह एक बजे तक भी घर नहीं पहुंचा। न ही उसने किसी रिश्तेदार का फोन उठाया। इस पर चिंतित परिजन उसकी सुध लेने के लिए दोपहर के समय वाटिका पहुंचे। तब वाटिका में सन्नाटा पसरा हुआ था।

परिजनों ने परमेश को खूब आवाजें दीं, लेकिन जवाब नहीं मिला। परिजनों ने वाटिका में उसे तलाशा तो युवक और उसके पुत्र का शव यहां पड़ा मिला। परिजनों ने वाटिका के ठेका संचालक को काफी फोन लगाए, लेकिन उसने नहीं उठाया। इसके बाद परिजनों ने घटना की सूचना कोतवाली पुलिस को दी।

सब्जी बनाई थी, भूखे ही गई जान
मौके के हालात पर गौर करें तो वाटिका के एक कोने पर मिले शव के करीब ही अस्थायी रसोई बनी हुई है। यहां गैस के ऊपर तपेली में सब्जी बनी हुई मिली, जो ताजी थी। वहीं टिफिन में रोटियां नहीं थीं। इसलिए अंदेशा जताया जा रहा है कि युवक और उसका पुत्र रोटी बनाने वाले थे।

खबरें और भी हैं...