पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Banswara
  • The Woman Had 1.7 Grams And The Girl Had 3.4 Hemoglobin, The Family Refused To Give Blood, Then Four Youths Reached The Hospital And Donated Blood.

सरोकार:महिला में 1.7 ग्राम और बच्ची में था 3.4 हीमाेग्लाेबिन, परिजनों ने खून देने से इनकार किया तो चार युवाओं ने अस्पताल पहुंच किया रक्तदान

बांसवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एमजी अस्पताल में दाे बच्चाें और दाे महिलाओं काे खून की कमी पर किया था भर्ती, अजनबी बने मददगार

एमजी अस्पताल में शुक्रवार काे खून की कमी के चलते दाे महिला और दाे बच्चाें काे भर्ती किया गया। डाॅक्टर तब हैरान रह गए जब एक महिला का हीमोग्लोबिन महज 1.7 ग्राम और दूसरी का हीमाेग्लाेबिन 2.7 ग्राम था। वहीं 5 महीने के बच्चे में 3.4 और एक साल की बेटी में 3.7 हीमाेग्लाेबिन बचा था। डाॅक्टराें ने चाराें के लिए बेहद कम समय में ही खून की जरूरत बताई। लेकिन परिजनाें ने खून देने से इनकार कर दिया।

सूचना पर रेडड्राप के राहुल सराफ पहुंचे और समझाइश की लेकिन परिजन रक्तदान के लिए राजी नहीं हुए। इस पर रेडड्राप की टीम ओर सपना फाउंडेशन की टीम के चार सदस्याें ने अस्पताल पहुंचकर रक्तदान किया। यूसुफ अली जेताजी महज एक काॅल पर दुकान बंद कर खून देने चले आए।

वहीं लालशंकर 25 किमी दूर सुंदनी गांव से रक्तदान करने पहुंचे। आशीष गाेयल और रंगलाल ने भी बिना किसी देरी के अस्पताल पहुंचकर रक्तदान किया। इस नेक काम में विशंभर सुखवाल, सुनील यादव, विनोद परमार, नरेंद्र बघेल, स्वेता पाल, राजेंद्र सैनी का सहयाेग रहा।

खबरें और भी हैं...