पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Banswara
  • There Was Doubt On The Character Of The Wife, The Body Was Lying On The CC Road For 8 Hours, The Husband Absconded After The Murder

पत्नी की चाकू से गोद कर हत्या:शराब के नशे में ली पत्नी की जान,चरित्र पर करता था शक, 8 घंटे सड़क पर पड़ा रहा शव; हत्या के बाद से पति फरार

बांसवाड़ा3 दिन पहले
महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाते हुए।

बांसवाड़ा के बुड़वा कस्बे में शराबी पति ने पत्नी की चाकू मार कर हत्या कर दी। बूढ़ी मां और बच्चे कुछ समझ पाते इससे पहले शराबी ने पत्नी का काम तमाम कर दिया। इसके बाद रात के अंधेरे में भाग गया। मंगलवार रात करीब 11 बजे हुई घटना के बाद से सुबह सात बजे तक पत्नी का शव खुले में सड़क पर पड़ा रहा। इसकी भनक न तो ग्रामीणों को लगी और न ही कलिंजरा थाना पुलिस को। स्थानीय सरपंच और ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस सुबह सात बजे मौके पर पहुंची। मौके से खूनी सनी हुई मिट्‌टी और महिला के कपड़े पुलिस ने बरामद किए। दिनभर महात्मा गांधी राजकीय चिकित्सालय के मुर्दाघर में पोस्टमार्टम की कार्रवाई चली। दोपहर बाद पुलिस ने महिला का शव परिजनों को सौंपा।

कलिंजरा थाना प्रभारी सुरेंद्र सोलंकी ने बताया कि संगीता जोगी रावल (40) यहां बुड़वा स्थित उसके निर्माणाधीन मकान में थी। उसके साथ बूढ़ी सास, 15 साल की बेटी और 10 साल का बेटा भी था। रात करीब साढ़े 10 बजे उसका पति प्रकाश जोगी रावल, शराब पीकर घर पहुंचा। यहां पति-पत्नी के बीच किसी बात को लेकर विवाद हुआ। चरित्र पर शक जताते हुए प्रकाश ने चाकू से वारकर संगीता की जान ले ली । संगीता ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। घटना के बाद से आरोपी प्रकाश फरार है।

पोस्टमार्टम कक्ष के बाहर मौजूद परिजन एवं पुलिस।
पोस्टमार्टम कक्ष के बाहर मौजूद परिजन एवं पुलिस।

सूरत में करते थे दोनों मजदूरी
स्थानीय ग्रामीणों ने बताया कि संगीता और प्रकाश दोनों सूरत (गुजरात) में मजदूरी करते थे। सात दिन पहले संगीता उसके बच्चों को लेकर यहां गांव पहुंची थी, जबकि प्रकाश शाम करीब पांच बजे ही सूरत से बूड़वा आया था। इसके बाद उसने घर पर खाना खाया और शाम के समय शराब पीने के लिए घर से निकला था। शराब के नशे में घर पहुंचने के बाद प्रकाश का उसकी पत्नी संगीता से झगड़ा हुआ। तभी उसने चाकुओं से हमला कर दिया। शारीरिक तौर पर संगीता बहुत कमजोर थी। इसलिए वह चाकुओं के ज्यादा वार नहीं झेल सकी और कुछ समय बाद ही दम तोड़ दिया।

निर्माणाधीन है मकान
स्थानीय लोगों के अनुसार तो बुड़वा में संगीता और प्रकाश का मकान निर्माणाधीन है। मकान में न तो खिड़की है और न ही दरवाजे। पुलिस का मानना है कि विवाद के बीच पति के आक्रामक तेवर को देखकर संगीता बाहर निकल आई होगी। तभी सड़क पर प्रकाश ने हमला कर दिया होगा। घटना की जानकारी पर आमजा थाना गढ़ी से संगीता के परिजन भी मौके पर पहुंचे, जो कि बच्चों को उनके साथ ननिहाल ले गए।

बेबस परिवार की ऐसी स्थिति

मजदूर और गरीब परिवार की स्थिति का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पूरी रात संगीता के शव को लेकर परिवार रोता बिलखता रहा, लेकिन संगीता को अस्पताल ले जाने के कोई कदम नहीं उठाए गए न ही मामले में पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने परिवार से पूछा तो उन्होंने बताया कि गांव के सरपंच को फोन लगा रहे थे।

खबरें और भी हैं...