सरपंचों के मुंह लगा रिश्वत का खून !:फायदा देने के लिए ग्रामीणों से मुंह फाड़ते हैं, ACB में 6 से ज्यादा मामले

बांसवाड़ा2 महीने पहले
हाल ही में बांसवाड़ा ACB की ओर से हुई कार्रवाई में गिरफ्तार देवगढ़ सरपंच। - Dainik Bhaskar
हाल ही में बांसवाड़ा ACB की ओर से हुई कार्रवाई में गिरफ्तार देवगढ़ सरपंच।

आदिवासी बाहुल्य बांसवाड़ा व डूंगरपुर जिले में सरपंचों के भ्रष्टाचार में लिप्त होने के मामले बढ़ रहे हैं। गरीब लोगों को सरकारी योजनाओं का फायदा देने से पहले सरपंच मुंह खोलकर पैसा मांगते हैं। पैसा नहीं मिलने पर लाभार्थी को परेशान करने तक से बाज नहीं आते। ACB की कार्रवाई ने ऐसे सरपंचों को सावधान जरूर कर दिया है, लेकिन भ्रष्टाचार बंद नहीं हुआ है। कार्रवाई का इतना डर जरूर हो गया है कि सरपंचों ने पैसे मांगने के नए तरीके निकाल लिए हैं। यूं कहे कि खुद को बचाने रखने के लिए सरपंचों ने अब मिडेटरों का सहारा लेना शुरू कर दिया है। बांसवाड़ा में अब तक हुई ACB की कार्रवाई में कुछ ऐसे ही खुलासे हुए हैं। बता दें कि दोनों जिलों में अब तक सरपंचों के खिलाफ 6 भ्रष्टाचार के मामले दर्ज हो चुके हैं, जबकि कुछ मामले अब भी विचाराधीन हैं। इनमें उदयपुर टीम की कार्रवाई वाले मामले अलग हैं।
केस: 01
पंचायत समिति आसपुर की ग्राम पंचायत रामगढ़। प्रधानमंत्री आवास योजना के बदले सरपंच संसर देवी को ACB ने 9 हजार की रिश्वत लेते पकड़ा। सरपंच पति जयंतीलाल भी मामले में कार्रवाई का हिस्सा बने। वह भी अवैध वसूली में साथ थे। (कार्रवाई डेट: 11 दिसम्बर 2019)
केस : 02
बांसवाड़ा में न्यूक्लियर पावर कार्पोरेशन लिमिटेड की ओर से निर्माणाधीन अणु बिजलीघर के निर्माण लोगों को परेशान नहीं करने के एवज में बारी (सियातलाई) सरपंच बहादूर सिंह मईड़ा को ACB ने 1 लाख 11 की रिश्वत लेते पकड़ा। मामले में बहादूर के भाई मेलनर्स (छोटीसरवन) के मुकेश मईड़ा को भी पकड़ा गया था। (कार्रवाई डेट : 21 जुलाई 2020)
केस: 03
बड़गांव (उदयपुर रोड) सरपंच ललीता देवी के पति सेवालाल और वार्ड पंच दिलीप यादव को 7 हजार की रिश्वत के साथ पकड़ा था। ये राशि ई-मित्र के किसी काम को लेकर ली गई थी। ( कार्रवाई डेट : 30 जुलाई 2020)
केस: 04
खोड़ी पीपली (डूंगरपुर) ग्राम पंचायत की महिला सरपंच के जेठ और वहां के ग्राम सेवक के खिलाफ 30 हजार की रिश्वत मांगने की शिकायत मिली थी। ACB टीम आने की भनक लग गई। इसलिए आरोपियों ने ठेकेदार से रिश्वत की राशि लेने से मना कर दिया। ये पैसे ठेकेदार ने निर्माण काम बिल के बदले मांगे गए थे। (कार्रवाई डेट: वर्ष 2021)
केस : 05
वरदा ग्राम पंचायत (डूंगरपुर) में सरपंच फूलवंती देवी को ACB ने 18 हजार की रिश्वत के साथ गिरफ्तार किया। ये भुगतान ठेकेदार का बिल फाइनल करने के एवज में मांगें गए थे। (कार्रवाई डेट : 28 अप्रेल 2021)
केस : 06
देवगढ़ ग्राम पंचायत सरपंच शंभूलाल डोडियार को 19 हजार की रिश्वत के साथ गिरफ्तार किया गया था। प्रशासन गांवों के संग अभियान में लाभार्थी को पट्‌टा देने के बाद उसे रजिस्टर्ड करने के एवज में राशि मंागी गई थी। (कार्रवाई डेट : तीन दिन पहले)
शिकायत पर सत्यापन, फिर कार्रवाई
ACB के ASP माधोसिंह सोढ़ा ने बताया कि भ्रष्टाचार को लेकर मुहिम चल रही है। ऐसे मामलों में शिकायत मिलने के बाद उसका सत्यापन करते हैं। पुष्टि होने पर कार्रवाई होती है। सरपंचों के मामले सामने आ रहे हैं।