पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अभ्यर्थियाें ने दी दाे दिन की माेहलत:आगे आंदाेलन की चेतावनी, काेविड सहायकाें के 73 पद खाली फिर भी नहीं निकाल रहे वेटिंग लिस्ट

बांसवाड़ा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में कोविड सहायकों के शेष 73 पद पर ज्वॉइनिंग देने का मामला सोमवार को उस समय गरमा गया, जब बेरोजगार नर्सिंग अभ्यर्थियों ने वेकेंसी के हिसाब से लास्ट मेरिट सूची जारी करने की जिद पकड़ ली। उदयपुर रोड स्थित चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग कार्यालय में खड़े बेरोजगारों ने सीएमएचओ पर सूची जारी करने का दबाव बनाया।

अभ्यर्थी यह तक कहते देखे गए कि उन्होंने बहुत इंतजार कर लिया। अब केवल दो दिन की मोहलत देंगे। इसके बाद वह आंदोलन करेंगे। जवाब में सीएमएचओ डॉ. हीरालाल ताबियार बोले कि उनसे ज्यादा बोलने की जरूरत नहीं है। ध्यान रखें कि कार्यालय की गरिमा है और वह सभी कार्यालय में खड़े हुए हैं। इससे पहले बेरोजगार नर्सिंग अभ्यर्थी दोपहर करीब 12 बजे यहां सीएमएचओ कार्यालय परिसर में जुटे। कलेक्ट्री से सीधे कार्यालय पहुंचे सीएमएचओ डॉ. ताबियार से मिलने पहुंचे। तभी यहां राज्य सरकार की ओर से स्वीकृत वेकेंसी में शेष बची 73 ज्वॉइनिंग को लेकर आक्रोश जताया। अभ्यर्थियों ने बताया कि वह अब तक टीएडी राज्यमंत्री अर्जुन बामनिया और कलेक्टर अंकित कुमार सिंह से कई बार मिल चुके हैं। उनकी ओर से आश्वासन दिया जा रहा है, लेकिन सुनवाई नहीं हो रही है। दूसरी ओर चिकित्सा विभाग उन्हें गुमराह कर रहा है।

अगर, दो दिन में उनकी समस्याओं का हल नहीं निकला तो वह आंदोलन करेंगे। जिला कलेक्ट्रेट से लेकर सीएमएचओ कार्यालय तक आंदोलना होगा। इसकी समस्त जिम्मेदारी विभाग की होगी। कार्यालय में जवाब संताेषप्रद नहीं मिला ताे अभ्यर्थी जिला प्रमुख रेशम मालवीया के पास भी पहुंचे, जहां जिला प्रमुख ने समस्या काे समझते हुए माैके से ही सीएमएचओ काे काॅल कर मामले की जानकारी ली, जिस पर सीएमएचओ ने बताया कि फाइल कलेक्टर और एडीएम के पास है। जिला प्रमुख ने अभ्यर्थियाें काे दाे दिन का आश्वासन दिया।

पूरे हैं प्रयास : मामले में सीएमएचओ डॉ. ताबियार ने बताया कि वह खुद भी सभी पदों पर कोविड सहायक चाहते हैं। इसके लिए विभाग स्तर पर फाइल को जिला प्रशासन के पास भिजवाया गया है। लेकिन, वहां पर प्रदेश सरकार से नए कोई दिशा-निर्देश जारी नहीं होने का मामला उठा है। ऐसे में फाइल प्रशासनिक स्तर पर अटकी हुई है। हमारी ओर से किसी तरह की लापरवाही नहीं बरती जा रही है।

खबरें और भी हैं...