पेड़ से गिरे बुजुर्ग की 10 दिन बाद मौत:उदयपुर के हॉस्पिटल में थे भर्ती, 15 दिन पहले बेटे की डूबने से हो गई थी मौत

बांसवाड़ा2 महीने पहले
पोस्टमार्टम से पहले परिवार को आवश्यक जानकारी देता पुलिस कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
पोस्टमार्टम से पहले परिवार को आवश्यक जानकारी देता पुलिस कर्मचारी।

पेड़ से गिरे बुजुर्ग ने 10 दिन बाद दम तोड़ दिया। वे उदयपुर के मेवाड़ आर्थोपेडिक अस्पताल में भर्ती थे। बीते 15 दिनों के दौरान एक ही परिवार की पिता-पुत्र की मौत के बाद परिवार पर संकट बढ़ गया है। पूरे गांव में बुजुर्ग की मौत को लेकर शोक रहा। पोस्टमार्टम के बाद बुधवार शाम को शव का अंतिम सस्कार हुआ। मामला सदर थाने के सामरिया गांव का है।

पोस्टमार्टम से पहले दस्तावेजी कार्रवाई पूरी करती पुलिस।
पोस्टमार्टम से पहले दस्तावेजी कार्रवाई पूरी करती पुलिस।

जांच अधिकारी HC महेंद्रपाल सिंह ने बताया कि सामरिया निवासी रकू (59) पुत्र हीरजी तारेल पेशे से खेतीहर किसान है। बीती 18 जून को वह गांव के एक पेड़ पर छंगाई करने के लिए चढ़े थे, जो सिर के बल नीचे आने से गंभीर घायल हो गए थे। परिवार ने उन्हें बांसवाड़ा के मेवाड़ आर्थोपेडिक अस्पताल में भर्ती कराया। बाद में हालत बिगड़ने के बाद उन्हें उदयपुर रेफर किया गया। वहां उपचार के दौरान मंगलवार शाम को उनकी मौत हो गई। बुधवार को बांसवाड़ा मोर्चरी में शव का पोस्टमार्टम कराया गया।
15 दिन पहले बेटे की डूबने से मौत

​​​​​​​पुलिस ने बताया कि रकू के जवान बेटे की करीब 15 दिन पहले मौत हुई थी। वह उसकी पत्नी के साथ ससुराल गया था। वहीं सुबह के समय खान में भरे पानी में नहाने गया था। युवक की संदिग्ध मौत को लेकर ससुराल जनों और युवक के परिवार के बीच विवाद भी हुआ था। इसी पिता ने बेटा बहू पर कई आरोप भी लगाए थे। उस मामले का निस्तारण होता। इससे पहले पिता ही पेड़ से गिर गया। एक परिवार में बीते 15 दिनों के दौरान दूसरी मौत की घटना से मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा है।