6 वारदातें करी कबूली:तलवार लेकर लोगों काे डरा रहा था, पुलिस ने पकड़ा तो निकला चाेर गिरोह का सरगना

बांसवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कागदी के पास पकड़ा गया, एक साल में बांसवाड़ा से डूंगरपुर तक 6 वारदातें कबूली

पिछले करीब एक साल से गिराेह बनाकर चाेरी की वारदातें करने वाला युवक बेखाैफ हाेकर हाथ में तलवार लेकर लाेगाें काे डरा रहा था। सूचना मिलने पर नाकाबंदी प्वाइंट पर लगे पुलिसकर्मी माैके पर पहुँचे। उसे पकड़ कर काेतवाली लाए। पूछताछ के दाैरान सख्ती बरती ताे एक के बाद एक कई वारदातें खुलती गई।

काेतवाली प्रभारी सीआई रतनसिंह ने बताया कि रतलाम राेड पर नाकेबंदी में लगे पुलिसकर्मियाें काे सूचना मिली कि कुछ दूरी पर एक युवक हाथ में तलवार लेकर लाेगाें काे भयभीत कर रहा है। पुलिस ने माैके पर पहुुंच धनपुरा निवासी परमेश पुत्र लक्ष्मण निनामा काे गिरफ्तार कर उसके कब्जे से तलवार बरामद कर ली। पुलिस ने उससे सख्ती से पूछताछ की ताे उसने पिछले एक साल से चाेरियाें की वारदात में लिप्त हाेना बताया। अपने कुछ साथियाें के साथ उसने खुद की गैंग बना रखी थी।

जहां घूमने जाते वहीं मौका मिलते ही वारदात कर देते

गिरोह : अनिल, दिनेश उर्फ राजकुमार, सुनिल चरपाेटा निवासी धनपुरा व पाडीखुर्द निवासी मेड़ा शामिल थे।
तरीका : जिनके साथ मिल कर उसने यह वारदातें की थी। पुलिस अब उसके गिराेह के अन्य सदस्याें की तलाश कर रही है। आरोपी ने अपने गांव के दोस्तों को ही गैंग में शामिल किया। जहां भी घूमने जाते मौका देखते ही वारदात कर देते।

पकड़ में क्याें नहीं आए : कोई पैटर्न नहीं था, इसलिए पुलिस शक भी नहीं कर पाई। गैंग में पांच साथी, एक का भी पुलिस के पास रिकॉर्ड नहीं, इसलिए बच रहे थे शहर से सटे बोदला गांव में परमेश, दिनेश और सुनील साथ मिलकर रैकी की और सूने मकान का ताला तोड़ा। सोने का हार, चांदी की पायजेब, सोने की नथ, सोने की चूड़ियां चोरी की।

6 माह पहले परमेश, सुनील व मेड़ा साथ मिलकर चिबड़ातलाई से बाइक चोरी की। डूंगरपुर के साबला में परमेश, अनिल और मेड़ा ने साथ मिलकर 5 माह पहले बाइक चोरी की। बड़गांव में परमेश, अनिल और सुनील साथ मिलकर करीब 4 माह पहले किराना की दुकान से सामान व नकदी चोरी। एक साल पहले अनिल और उसने मिलकर नयागांव रोड से बाइक चोरी की।

9 माह पहले परमेश, अनिल और सुनील ने रैकी कर कलिंजरा थाने की एक मोबाइल शॉप से महंगे-महंगे करीब 60 मोबाइल चोरी किए।

खबरें और भी हैं...