पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कांग्रेस कार्यालय में फूटा गुस्सा:रात को ऐसा क्या हुआ कि मंत्री पुत्र को उप जिला प्रमुख का प्रत्याशी बना दिया : त्रिवेदी

बांसवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कांग्रेस में सामान्य वर्ग की परंपरा तोड़कर मंत्री के अपने बेटे को उप जिला प्रमुख बनाने को लेकर असंतोष लगातार बढ़ रहा है। गुरुवार को पार्टी कार्यालय में हुई बैठक में इसे लेकर गुस्सा फूट पड़ा। पार्टी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष शंकरलाल त्रिवेदी ने कार्यालय में पार्टी के नेता और पदाधिकारियाें के सामने बेटे देवेंद्र त्रिवेदी काे उप जिला प्रमुख नहीं बनाए जाने पर नाराजगी जताई।

दरअसल सभी जिला परिषद सदस्य और प्रधान जिला परिषद में साधारण सभा की बैठक के बाद पार्टी कार्यालय पहुंचे थे। इसी दाैरान उप जिला प्रमुख के पद का मुद्दा उठा ताे गढ़ी क्षेत्र के कार्यकर्ता और पार्टी पदाधिकारियाें का आक्राेश बढ़ गया।

खासताैर पर पार्टी के उपाध्यक्ष शंकरलाल त्रिवेदी बेटे काे उप जिला प्रमुख नहीं बनाने पर रूठे नजर आए। त्रिवेदी ने बताया कि जिला प्रमुख के चुनाव के दिन माेरड़ी मिल से काफिला यहां आया और बाद में रतनपुर बाॅर्डर तक पहुंचा तब तक देवेंद्र त्रिवेदी का नाम फाइनल था, लेकिन रात काे अचानक 10 बजे के बाद ऐसा क्या हुआ कि नाम बदल गया।

यह बात घाटोल से पार्टी के वरिष्ठ नेता नानालाल निनामा भी कह चुके हैं। 19 सदस्य भी इसके लिए सहमत थे। इस दाैरान मेरे बेटे का फाेन आया ताे मैंने यहीं कहा कि कभी मेरे जीवन पर दाग मत लगाना, बाकि जाे बाद में करेंगे वाे करेंगे।

देवेंद्र त्रिवेदी ने कहा कि हमारे गढ़ी विधानसभा क्षेत्र या आसपास के लाेगों में इस फैसले को लेकर नाराजगी जरूर है। जब रेशम जी जिला प्रमुख बने ताे सभी ने एक जाजम पर बैठकर फैसला लिया था, दूसरे दिन भी उप जिला प्रमुख काे लेकर सब तय था, जिसमें मंत्रीजी, मालवीयाजी, कांता जी सभी थे। लेकिन रात काे सब बदल गया, काेई बात नहीं वाे बने, उन्हें भी बधाई। इधर, उप जिला प्रमुख के पद काे लेकर कार्यालय में चले विवाद पर विधायक महेंद्रजीतसिंह मालवीया ने कहा कि काेई विवाद नहीं है, कांग्रेस बड़ी पार्टी है।

मंत्री ने पुत्र माेह में लिया फैसला - कार्यकर्ता शैलेष

कार्यकर्ता शैलेश त्रिवेदी ने कहा कि उप जिला प्रमुख का पद सामान्य वर्ग काे दिया जाए। रात तक यह सब तय था, लेकिन मंत्री ने अपने पुत्र माेह की वजह से यह धाेखा किया अाैर सामान्य वर्ग के साथ एेसा विश्वासघात किया है कि पूरे जिले में यह वर्ग इस फैसले से नाराज है। सामान्य ही नहीं बल्कि सभी वर्ग के लाेगाें में राेष है। इस दाैरान चुनाव जीते प्रत्याशी भी इस फैसले पर नाराज दिखे। उनका यहीं कहना था कि मंत्री ने यह सब अपने बेटे के लिए किया है।

नानालाल निनामा भी जता चुके है तीखी प्रतिक्रिया

पिछली गहलाेत सरकार में संसदीय सचिव रहे घाटाेल क्षेत्र के पूर्व विधायक व वरिष्ठ कांग्रेस नेता नानालाल निनामा भी जिला प्रमुख और उप जिला प्रमुख पद पर परिवारवाद को लेकर तीखी प्रतिक्रिया जता चुके है। उन्होंने साफ कहा कि जब घर में मंत्री पद है तो बेटे को उप जिला प्रमुख पद देने की क्या जरूरत थी। इससे सामान्य वर्ग में नाराजगी है। नानालाल निनामा ने भी कहा कि-एक दिन पहले तक देवेंद्र त्रिवेदी का नाम फाइनल था। रात काे पता नहीं क्या पुत्र माेह हाे गया और मामला बदल गया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें