नाबालिग ने की सुसाइड की काेशिश:माता-पिता ने डांटा तो रस्सी लेकर जंगल में भागा, समय पर फंदे से उतारा

बांसवाड़ा5 महीने पहले
परामर्श से पहले स्ट्रेचर पर लेटे हुए लड़के से पूछताछ करते हुए डॉक्टर।

घर से दूर नाबालिग लड़के ने जंगल में सुसाइड की कोशिश की। फंदे पर लटकने के तुरंत बाद परिवार वहां पहुंच गया, जिसे बिना देर लगाए नीचे उतारा गया। जिला अस्पताल में नाबालिग का उपचार जारी है। युवक आज सुबह 8 बजे उदयपुर से घर लौटा था। वह उसकी बहन को अकेला छोड़ घर आया तो माता-पिता ने उसे डांट दिया। परिवार से नाराज होकर वह रस्सी लेकर जंगल की ओर गया। परिवार को शक हुआ तो पीछे दौड़े। तब तक लड़का फंदा बनाकर उस पर झूल गया, लेकिन परिवार के तुरंत पहुंचने से उसे बचा लिया गया। परिवार में चचेरे भाई पंकज मईड़ा ने बताया कि अमरथून (थाना भूंगड़ा) नितेश पुत्र किशन मईड़ा एक दिन पहले उसकी बहन और गांव के कुछ लोगों के साथ उदयपुर में मजदूरी करने के लिए गया था। वहां उसे काम समझ नहीं आया तो वह बहन को छोड़कर सुबह 8 बजे बांसवाड़ा आ गया। परिवार में माता-पिता ने उसे डांटा और जिम्मेदार बनने की दुहाई दी। ये बात नितेश को गले नहीं उतरी। वह हाथ में रस्सी लेकर फोन पर किसी से बात करता हुआ जंगल की ओर गया, जहां उसने सुसाइड की कोशिश की। अभी नितेश की हालत ठीक है। उसका उपचार चल रहा है।