जबरन रिश्ता और फिर पत्नी बनाया:आंख खराब हुई तो सौतन लेकर आया, पति के परिवार वाले बेटे को छीनने में जुटे

बांसवाड़ा7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मामला आंबापुरा थाना क्षेत्र का है - Dainik Bhaskar
मामला आंबापुरा थाना क्षेत्र का है

राजस्थान के बांसवाड़ा जिले में एक अजीबो-गरीब मामला सामने आया है। एक युवक ने एक महिला को पहले जबरन रिश्ता बनाने को मजबूर किया। पिता के घर से उठाकर ले गया। कई सालों तक पत्नी बनाकर रखा, जब आंख का इलाज कराने की बारी आई तो किनारा कर लिया। पहली पत्नी के जिंदा रहते हुए दूसरी बीवी लेकर आया। इसके बाद पहली पत्नी को धक्के मारकर घर से भगा दिया। अब वह पिता के घर गुजर बसर कर रही है। अब पीड़ित महिला के जन्मे बच्चे को छीनने की कोशिश की जा रही है।

5 साल के मासूम की जान को खतरा
यह मामला आंबापुरा थाना क्षेत्र का है। पुलिस ने मामला दर्ज किया है। दहेज सहित अन्य धाराओं में दर्ज मामले में पीड़िता प्रियंका ने कालूराम पारगी, मोती पारगी, नानी पारगी और सौतन ममता से खुद की सुरक्षा के साथ 5 साल के मासूम की जान को खतरा बताया है। पति को आवारा बताते हुए प्रियंका ने आरोप लगाया कि करीब 6 साल पहले आरोपी कालूराम उसे भगाकर ले गया था। उसने तब थाने में रिपोर्ट भी दी थी, लेकिन आरोपी पति ने उसके परिवार को धमकाकर उसे बीवी बनाया। रिश्ते भी बनाए। इससे करीब 5 साल पहले उसके एक बेटा पैदा हुआ। वर्ष 2018 में प्रियंका की आंख पर चोट लगी तो आरोपी ने ऑपरेशन का खर्च उठाने से मना कर दिया।

घर में सौतन लेकर आया
इस बीच, प्रियंका के रहते कालूराम दूसरी बीवी ले आया। दोनों ने मिलकर उसे घर से धक्के मारकर बाहर कर दिया। अब वह अपने पिता के घर पर है, लेकिन आरोपी बच्चे को उससे छीनने के लिए धमका रहे हैं। महिला का आरोप है कि पिता के घर रहने के बावजूद उसे किसी तरह का भरण पोषण भुगतान भी नहीं मिल रहा है।

बुलेट के लिए मांगे रुपए
प्रियंका का आरोप है कि इससे पहले छोटे भाई की शादी के लिए आरोपी पति ने उसके पिता से पैसे दिलाने का दबाव बनाया। उसने मना कर दिया तो घर से बाहर करने की धमकी दी। पिता ने पीड़ा समझी तो शादी के लिए 35 हजार नगद देकर जेवर दिलाए। इसके बाद आरोपी ने पिता से बुलेट दिलाने को कहा। इस बार उसकी बात नहीं मानी तो आरोपियों ने मारपीट की। यहां तक कहा कि जब तक बुलेट नहीं आएगी वह उसके साथ संबंध भी नहीं रखेगा। अब इस मामले की जांच SI गजवीर सिंह कर रहे हैं।