205 किलोमीटर पैदल चलेंगे देवी भक्त:5वें दिन पावागढ़ पहुंचेंगे, 26 साल से चल रही परंपरा, 14 से 70 साल के पदयात्री रवाना

बांसवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पावागढ़ रवाना होने से पहले लोहारिया गांव में जुटे पदयात्री। - Dainik Bhaskar
पावागढ़ रवाना होने से पहले लोहारिया गांव में जुटे पदयात्री।

कुशलगढ़ के लोहारिया गांव से देवी भक्तों का जत्था शनिवार को पावागढ़ के लिए रवाना हुआ। जत्थे में 14 से 70 वर्ष आयु के शामिल पदयात्री 5 दिन में करीब 205 किलोमीटर का सफर तय करेंगे। करीब 26 साल पहले वर्ष 1995 में पहली बार इस परंपरा की गांव में शुरुआत हुई थी। तब कमलेश टेलर व कैप्टन सिंह राठौड़ ने पहली बार पदयात्रा की शुरुआत की थी।

तब केवल दो जनों ने यह बीड़ा उठाया था, जबकि इस जत्थे में हर साल बढ़ोतरी होती गई। इस बार 51 लोग इस मंजिल के लिए निकले हैं। यह प्रतिदिन तकरीबन 40 से 50 किलोमीटर का सफर तय करेंगे। हर साल भाई दूज के मौके पर इस यात्रा को निकाला जाता है। हमेशा की तरह इस बार भी पदयात्रा का नेतृत्व कैप्टन सिंह राठौड़, सरपंच पति बहादुर भाई, पार सिंह, बाबू भाई, अभिराज सिंह, यशपाल सिंह, रामचंद्र, बंसीलाल मुकेश कर रहे हैं। रवानगी से पहले पदयात्रा को अखंड सनातन मंडल अध्यक्ष विजय पाल सिंह, आशीष नेमा, कमलेश टेलर, दिगपाल सिंह राठौड़ भाग्यवान सिंह राठौड़ ने विदाई दी।

कंटेंट : नरेंद्र जैन (कुशलगढ़)