कॉन्सटेबल के खिलाफ ACB में केस दर्ज:परिवादी से मांगी थी 20 हजार की मंथली

बारां16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एसीबी ने रावतभाटा थाने के कॉन्स्टेबल के खिलाफ परिवादी से चोरी का माल खरीदने के मामले में नहीं फंसाने की एवज में रिश्वत मांगने का केस दर्ज किया है। - Dainik Bhaskar
एसीबी ने रावतभाटा थाने के कॉन्स्टेबल के खिलाफ परिवादी से चोरी का माल खरीदने के मामले में नहीं फंसाने की एवज में रिश्वत मांगने का केस दर्ज किया है।

एसीबी ने रावतभाटा थाने के कॉन्स्टेबल के खिलाफ परिवादी से चोरी का माल खरीदने के मामले में नहीं फंसाने की एवज में रिश्वत मांगने का केस दर्ज किया है। आरोपी कांस्टेबल ने सत्यापन के दौरान परिवादी से रिश्वत के 6 हजार रुपए परिवादी से ले लिए। ट्रेप कार्रवाई के दौरान परिवादी पर शक होने के कारण उसने रिश्वत की बकाया राशि नहीं ली। ऐसे में ट्रेप कार्रवाई नहीं होने पर एसीबी मुख्यालय के आदेश पर आरोपी कॉन्स्टेबल के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

एसीबी के एएसपी गोपाल सिंह कानावत ने बताया कि 7 फरवरी को परिवादी आदर्श नगर, बीएड कॉलेज के पास रावतभाटा निवासी आदिल हुसैन ने बारां एसीबी चौकी पर एक लिखित शिकायत एसीबी डीएसपी अनीष अहमद को दी थी। जिसमें बताया था कि परिवादी रावतभाटा में कबाड़े का काम करता है। रावतभाटा थाने के पुलिसकर्मी गिर्राज ने परिवादी को चोरी का माल खरीदने के लिए कहा और 20 हजार रूपए मासिक बंदी के रूप में रिश्वत की मांग की गई। मासिक बंदी नहीं देने पर परिवादी पर चोरी का माल खरीदने का झूठा केस बनाने की धमकी दी गई।

इस पर एसीबी बारां टीम ने शिकायत का 8 फरवरी को गोपनीय सत्यापन कराया। आरोपी गिर्राज प्रसाद गुर्जर ने सत्यापन के दौरान परिवादी से मासिक बंदी के रूप में 20 हजार रूपए रिश्वत की बात की। सत्यापन के दौरान ही आरोपी गिरिराज ने परिवादी से 6 हजार रूपए प्राप्त कर लिए और शेष 14 हजार रूपए एक-दो दिन बाद देना तय किया। ऐसे में एसीबी की ओर से 9 फरवरी को ट्रेप कार्रवाई का आयोजन किया गया। आरोपी पुलिसकर्मी को परिवादी पर शक होने के कारण उसने रिश्वत राशि नहीं ली। ऐसे मे ट्रेप कार्रवाई नहीं हो सकी। एएसपी कानावत ने बताया कि कार्रवाई की रिपोर्ट ब्यूरो मुख्यालय भेजी गई। मुख्यालय की ओर से आरोपी के खिलाफ रिश्वत लेने का मामला दर्ज किया गया है। एसीबी की ओर से मामले में जांच शुरु कर दी गई है।