• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Baran
  • Due To The Increase In The Price Of Gas Cylinder, The Budget Of The Kitchen Deteriorated, People's Problems Increased

महंगाई की मार:गैस सिलेंडर की कीमत बढ़ने से बिगड़ा रसोई का बजट, लोगों की परेशानी बढ़ी

बारां2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • वापस चूल्हे पर खाना बनाने लगे ग्रामीण, रसोई गैस हो रही है महंगी

जलवाड़ा पेट्रोल, डीजल व खाद्य पदार्थों के दामों में बेतहाशा वृद्धि के चलते लोग पहले से ही महंगाई से जूझ रहे थे। इसी बीच इसी माह रसोई गैस सिलेंडर के दामों में 50 रुपए का इजाफा होने से कीमत एक हजार के पार हो गई है।उपभोक्ताओं को अब 14.2 किलो का सिलेंडर रिफिल करवाने के लिए 1019.50 रुपए चुकाने पड़ रहे हैं। ऐसे में गैस का उपभोग टेड़ी खीर बनता जा रहा है। गरीब व मध्यम वर्ग के परिवारों पर बढ़ती महंगाई भारी पड़ रही है। लगातार बढ़ती महंगाई व रसोई गैस के दाम बढ़ने से रसोई संभालने वाली महिलाएं परेशान हैं। छोटे परिवार में प्रति माह एक सिलेंडर व बड़े परिवार में दो सिलेंडर की खपत होती है। सिलेंडर के साथ ही खाद्य तेल, किराना सामग्री, दाल, मसाले, सब्जियां व अन्य जरूरी वस्तुओं की कीमतें आसमान छू रही हैं। ऐसे में रसाई का बजट बिगड़ना स्वाभाविक है। गृहणियों ने बताया कि सरकार गैस का दाम कम करने के बजाय लगातार बढ़ा रही है। ऐसे में घर परिवार का खर्च चलाना मुश्किल हो रहा है।

4 महीने में बढ़े 140 रुपएगांवों में तो चूल्हे के लिए जलाऊ लकड़ी की व्यवस्था हो जाती है, लेकिन कस्बों में ईंधन नहीं मिलने के कारण गैस के अलावा कोई विकल्प नहीं है। गैस एजेंसियों के कार्मिकों ने बताया कि गैस के दाम बढ़ने से उज्ज्वला योजना के तो नाम मात्र के सिलेंडर रिफिल के लिए आ रहे हैं। इस साल रसोई गैस की कीमत में दूसरी बार इजाफा हुआ है। इससे पहले मार्च में कंपनियों ने 50 रुपए प्रति सिलेंडर की बढ़ोतरी की थी। पिछले साल सितंबर माह में 25 रुपए, अक्टूबर के दूसरे सप्ताह में 15 रुपए बढ़ाए गए थे। ऐसे में सिर्फ चार महीनों में ही 140 रुपए की बढ़ोतरी हुई है।रसोई गैस पड़ रही भारीकेंद्र सरकार ने ग्रामीण महिलाओं को चूल्हे के धुएं से निजात दिलाने के लिए उज्ज्वला योजना के तहत निशुल्क गैस कनेक्शन दिए थे। अब बढ़ती गैस की कीमतें इस योजना पर भारी पड़ रही है। महंगाई के चलते ग्रामीण महिलाएं गैस चूल्हा छोड़ वापस लकड़ी के चूल्हे पर खाना बनाने को मजबूर हैं। केंद्र सरकार की ओर से रसोई गैस पर 147 रुपए की सब्सिडी मिलती थी, लेकिन मई 2020 के बाद से अब तक सब्सिडी बंद है। मई 2020 में बिना सब्सिडी वाला सिलेंडर 583 रुपए में मिलता था जो अब बढ़कर 1019.50 रुपए का हो गया है।

खबरें और भी हैं...