चिरंजीवी ग्राम और वार्ड सभाओं का आयोजन:स्वास्थ्य बीमा योजना की दी जानकारी, लोगों के किए रजिस्ट्रेशन

बारां4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बारां में हेल्थ डिपार्टमेंट की ओर से रविवार को चिरंजीवी ग्राम सभाओं और वार्ड सभाओं का आयोजन किया गया। - Dainik Bhaskar
बारां में हेल्थ डिपार्टमेंट की ओर से रविवार को चिरंजीवी ग्राम सभाओं और वार्ड सभाओं का आयोजन किया गया।

बारां में हेल्थ डिपार्टमेंट की ओर से रविवार को चिरंजीवी ग्राम सभाओं और वार्ड सभाओं का आयोजन किया गया। इस मौके पर छूटे हुए लोगों का मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में रजिस्ट्रेशन किया गया। जिले की 232 ग्राम पंचायतों, ग्राम सभाओं और शहर में 6 जगह चिंरजीवी वार्ड सभा का आयोजन किया गया। जिला प्रमुख उर्मिला जैन भाया ने ग्राम पंचायत बड़ा में निरीक्षण किया। वहीं 63 अधिकारियों ने विभिन्न ग्राम सभाओं का निरीक्षण किया।

सीएमएचओ डॉ. संपतराज नागर ने बताया कि प्रत्येक ‎ग्राम पंचायत और नगरी वार्ड में‎ चिरंजीवी ग्राम, वार्ड सभा का‎ आयोजन किया गया। यहां आमजन को मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा ‎योजना की जानकारी दी। योजना में पंजीयन से वंचित प्रत्येक‎ परिवार का पंजीयन किया गया। जिला प्रमुख उर्मिला जैन ने ग्राम पंचायत मुख्यालय बड़ा में चिंरजीवी ग्राम सभा में भाग लिया। जिला प्रमुख भाया ने कहा कि इलाज में खर्च की चिंता को दूर करने में चिंरजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना हर वर्ग के लिए वरदान साबित हो रही है। सरकारी और प्राइवेट हॉस्पिटलों में गंभीर बीमारियों का निशुल्क इलाज मिल रहा है। उन्होंने आमजन से चिंरजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से जुड़कर दस लाख तक के इलाज के खर्च से चिंता मुक्त होने की अपील की। कार्यक्रम के दौरान 10 व्यक्तियों के पंजीकरण करवाने पर जिला प्रमुख ने पॉलिसी प्रदान की।

सीएमएचओ डॉ. नागर ने मियाड़ा, कोयला और कोटड़ी सूंडा में ग्राम सभाओं में भाग लेकर आमजन से रजिस्ट्रेशन कराने की अपील की। वहीं 63 अधिकारियों ने ग्राम सभाओं और वार्डसभाओं का निरीक्षण किया। सीएमएचओ डॉ. नागर ने बताया कि‎ मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा‎ योजना के तहत प्रदेश में हर परिवार‎ को हॉस्पिटल में भर्ती होने पर‎ कैशलेस इलाज के लिए 10 लाख‎ रुपए तक का स्वास्थ्य बीमा कवर‎ दिया जाएगा। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा‎ अधिनियम, सामाजिक आर्थिक‎ जनगणना के पात्र परिवार, लघु और‎ सीमांत किसानों, संविदा कर्मियों और‎ कोविड-19 के दौरान अनुग्रह राशि‎ प्राप्त करने वाले गरीब परिवारों का पूरा बीमा‎ प्रीमियम राज्य सरकार दे रही है।‎ अन्य परिवार 850 रुपए प्रति वर्ष‎ प्रति परिवार के प्रीमियम पर योजना‎ से जुड़ सकते हैं। इस योजना के‎ तहत कई बीमारियों के इलाज‎ के लिए 1633 पैकेज शामिल किए‎ गए हैं।