2 साल बाद फिर शुरू हुई कोटा-इटावा एक्सप्रेस:कोरोनाकाल में बंद हो गई थी ट्रेन, सैकड़ों लोगों को मिलेगा फायदा

बारां4 महीने पहले
बारां स्टेशन पर सांसद दुष्यंत सिंह और डीआरएम पंकज शर्मा ने हरी झंडी दिखाकर ट्रेन को रवाना किया।

बारां से गुजरने वाली कोटा-इटावा-कोटा एक्सप्रेस का संचालन 2 साल बाद फिर से शुरू हो गया है। इस ट्रेन के संचालन को लेकर लंबे समय से लोग मांग कर रहे थी। शनिवार रात को ट्रेन बारां स्टेशन पर पहुंची तो यहां सांसद दुष्यंत सिंह और डीआरएम पंकज शर्मा ने हरी झंडी दिखाकर ट्रेन को रवाना किया। सांसद दुष्यंत सिंह ने ट्रेन के पायलट सहित स्टाफ का साफा बांधकर स्वागत किया। इसके बाद ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

कोटा मंडल डीआरएम पंकज शर्मा ने बताया कि बताया कि कोटा-इटावा-कोटा एक्सप्रेस कोटा से प्रतिदिन रात 11.50 बजे रवाना होगी। इसके बाद रात को 12 बजे अंता, 12.55 बजे बारां, 2 बजे छबड़ा स्टेशन पर पहुंचेगी। यह ट्रेन रुठियाई, गुना, शिवपुरी, ग्वालियर, भिंड होते हुए इटावा जाएगी। इसी तरह वापसी में इटावा से शाम 5 बजे रवाना होगी और सुबह 3.43 बजे छबड़ा, सुबह 5 बजे बारां, साढ़े 5 बजे अंता और 7.05 बजे कोटा पहुंचेगी। इस ट्रेन के चलने से कोटा, ग्वालियर, भिंड और शिवपुरी जाने वाले यात्रियों को राहत मिलेगी।

सांसद दुष्यंत सिंह ने कहा कि कोरोना काल से पहले से इस ट्रेन का प्रतिदिन संचालन होता था। लेकिन कोरोना काल में इस ट्रेन को बंद कर दिया गया। अब रेलवे की ओर से वापस से इस ट्रेन का संचालन शुरू किया गया है। उन्होंने कहा कि यात्रियों को बारां से दिल्ली तक के लिए सीधी ट्रेन मिल सके, इसके लिए प्रयास किए जा रहे हैं। सोगरिया से दिल्ली जाने वाली ट्रेन को बारां से शुरू करने के लिए मंडल अधिकारियों के साथ प्रयास कर रहे है।

समारोह में डीआरएम पंकज शर्मा, एडीआरएम पीएन सारस्वत, वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक तुषार सारस्वत, सीनियर मंडल इंजीनियर संजय यादव, सहायक वाणिज्यक प्रबंधक गुरनार सिंह, दूरसंचार इंजीनियर रामराज मीना, वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त विजय प्रकाश पंडित, हरीश रंजन बिजली इंजीनियर, मंडल वाणिज्य निरीक्षक राजीव सक्सेना, स्टेशन अधीक्षक मुकेश मीना आदि मौजूद रहे।