सांसद ने कलेक्टर के सामने उठाए किसानों के मुद्दे:फसल बीमा का मुआवजा दिलाने की मांग, पानी संकट पर की चर्चा

बारां6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सांसद ने किसानों के फसल बीमा राशि के भुगतान, पेयजल संकट और लहसुन की एमएसपी के तहत खरीद पर चर्चा की। - Dainik Bhaskar
सांसद ने किसानों के फसल बीमा राशि के भुगतान, पेयजल संकट और लहसुन की एमएसपी के तहत खरीद पर चर्चा की।

झालावाड़-बारां सांसद दुष्यंत सिंह ने सोमवार को कलेक्टर नरेंद्र गुप्ता से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने किसानों के फसल बीमा राशि के भुगतान, पेयजल संकट, लहसुन की एमएसपी के तहत खरीद और चना खरीद केंद्रों की अव्यवस्थाओं पर चर्चा की। सांसद ने कलेक्टर को बताया कि किसानों की 2021-22 के खराब का मुआवजा अभी तक भी किसानों को नहीं मिला है। इस पर कलेक्टर ने कहा कि एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी ऑफ इंडिया को राज्य सरकार की ओर से अनुदान राशि प्राप्त नहीं होने के कारण देरी हुई है। उन्होंने अगले 15 से 20 दिनों में मुआवजे की राशि का वितरण प्रारंभ होने की उम्मीद जताई। सांसद ने बड़ी संख्या में 2019 के खरीफ फसल बीमा दावों का निस्तारण नहीं होने पर भी नाराजगी जताई। कलेक्टर ने इसका जल्द ही भुगतान करने का आश्वासन दिया।

सांसद दुष्यंत सिंह ने कानून व्यवस्था को लेकर एसपी कल्याण मल मीणा से चर्चा की और चोरी की बढ़ती वारदातों पर चिंता जताई।
सांसद दुष्यंत सिंह ने कानून व्यवस्था को लेकर एसपी कल्याण मल मीणा से चर्चा की और चोरी की बढ़ती वारदातों पर चिंता जताई।

सांसद ने कलेक्टर के सामने लहसुन उत्पादकों की पीड़ा को भी रखा। उन्होनें कहा कि लहसुन का रकबा बढ़ने से इस बार बाजार में उत्पादकों को इसका लागत मूल्य भी नहीं मिल रहा है। ऐसे में लहसुन की खरीद बाजार हस्तक्षेप योजना के तहत की जानी चाहिए। इस पर कलेक्टर ने सरकार को प्रस्ताव भेजने का आश्वासन दिया। सांसद ने चने के खरीद कांटों की अव्यवस्थाओं पर भी कलेक्टर का ध्यान आकर्षित किया। उन्होनें बारां शहर में पेयजल आपूर्ति की स्थिति पर चिंता जाहिर करते हुए व्यवस्था में सुधार के निर्देश दिए।

सांसद दुष्यंत सिंह ने एसपी कल्याणमल मीणा से मुलाकात कर जिले की कानून व्यवस्था पर चर्चा की। उन्होनें चोरी की बढ़ती वारदातों पर चिंता जताई और गश्त व्यवस्था बढ़ाने का आग्रह किया। सांसद ने कवाई थाना क्षेत्र में पिछले दिनों युवक की संदिग्ध मौत के मामले में मृतक की पत्नी को एसपी के सामने पेश किया। सांसद ने कहा कि संदिग्ध मौत के पीछे हत्या का अंदेशा जताया जा रहा है, ऐसे में पीड़ित परिवार को न्याय मिलना चाहिए। इस दौरान जिलाध्यक्ष जगदीश मीणा, पूर्व विधायक रामपाल मेघवाल, ललित मीणा, उप जिला प्रमुख छीतरलाल मेघवाल, प्रधान मोरपाल सुमन, पूर्व जिलाध्यक्ष चंद्रप्रकाश विजय, ब्रह्मानंद शर्मा, प्रवीण शर्मा सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित रहे।