• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Baran
  • Provides Blood Immediately As Soon As Information Is Received, Saving Lives Of More Than 120 People Every Month By Donating Blood

इंसानियत की मिसाल बना युवाओं का ग्रुप:सूचना मिलते ही तुरंत उपलब्ध कराते है ब्लड, रक्तदान कर हर माह 120 से अधिक लोगों की बचा रहे जिंदगी

बारां17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बारां. रक्तदान करते बारां ग्रुप के सदस्य। - Dainik Bhaskar
बारां. रक्तदान करते बारां ग्रुप के सदस्य।
  • पांच साल पहले की थी शुरुआत, घायलों, मरीजों, थैलेसीमिया पीड़ित व गर्भवती महिलाओं को मिल रही राहत

शहर में घायलों व मरीजों, थैलेसिमिया पीड़ित व गर्भवती महिलाओं को रक्त दिलाने के लिए शहर के युवाओं ने कुछ सालों पहले सोशल मीडिया पर बारां ब्लड डोनर्स नाम से एक ग्रुप बनाया था। अब यह ग्रुप इमरजेंसी में एक फोन आने पर मरीजों को ब्लड उपलब्ध करा रहे हैं। अब हालात यह है कि इस ग्रुप की ओर से प्रतिदिन 5 से 7 लोगों को प्रतिदिन ब्लड उपलब्ध करा रहे हैं। हर माह औसतन 120 से अधिक लोगों को ब्लड उपलब्ध कराते हैं। सूचना मिलने पर ग्रुप के सदस्य यह नहीं देखते कि किसी परिचित को जरूरत है या अनजान काे, बस रक्तदान करने निकल जाते हैं। यदि सामने वाला का ब्लड ग्रुप मैच नहीं भी हो रहा तो ये अपने परिचित के माध्यम से डोनर की व्यवस्था कर देते हैं। इस ग्रुप को शुरू करने वालों में पद्मेश शर्मा, केशव गोयल, आदित्य जैन ने बताया कि 5 साल पहले ग्रुप की शुरुआत की थी। इसके बीच में कोविड के दौरान भी लोगों को ब्लड उपलब्ध कराने के लिए ग्रुप सदस्य एक्टिव रहे। कोविड के दौरान ही ग्रुप की ओर से करीब 2 हजार से अधिक लाेगों को रक्त उपलब्ध करवाया गया। कोविड के समय चुनौतियां इतनी बड़ी थीं कि एक-दूसरे की मदद किए बिना चीजें बेहतर नहीं हो सकती थीं। सभी को एक-दूसरे के सहयोग की जरूरत थी और यहीं से इस ग्रुप को नाम मिला और शुरुआत हुई।

सभी सदस्य रहते हैं एक्टिव, ब्लड बैंक स्टाफ को भी ग्रुप में जोड़ा

बारां ब्लड डोनर्स नाम से सोशल मीडिया पर एक ग्रुप बनाया। इसमें सदस्यों के साथ ही ब्लड बैंक स्टाफ को भी इसमें जाेड़ा गया है। ग्रुप पर रक्त की आवश्यकता की सूचना मिलने पर सभी सदस्य एक्टिव होते हैं और उस ब्लड ग्रुप के सदस्य को सूचना दी जाती है। सदस्य ब्लड बैंक पहुंचता है और रक्तदान करके मरीज को ब्लड उपलब्ध करवाया जाता है। शर्मा ने बताया कि किसी भी केस को लेने से पहले हम उसे वैरिफाई करते हैं। अटेंडर से अस्पताल का रिक्वायरमेंट लेटर मांगते हैं।

एप पर एक हजार से रक्तदाताओं का डाटा स्टोर
बारां ब्लड डोनर्स ग्रुप की ओर से एप बनाया गया है। ग्रुप के तेजप्रकाश मालव ने बताया कि इस एप पर प्रत्येक ग्रुप के रक्तदाता का अलग-अलग डाटा है। इसमें ब्लड ग्रुप डालने पर रक्तदाताओं की सूची सामने आ जाती है। इसमें करीब 1000 से ज्यादा रक्तदाताओं का डाटा जुड़ा हुआ है। ग्रुप के आदित्य जैन ने बताया कि ग्रुप के रक्तदाताओं की लिस्ट बनाई है। उनसे रक्तदान करने वाले 500 से ज्यादा ऐसे लोग जुड़े है जो कभी भी किसी अनजान के लिए रक्त देने के लिए तैयार करते है। इनमें ए पॉजीटिव, एबी नेगेटिव, बी पॉजीटिव, ओ पॉजीटिव, ए नेगेटिव, बी नेगेटिव आदि ब्लड ग्रुप शामिल है। जैन ने बताया कि जिले के कुछ ग्रामीण क्षेत्र से सदस्य जुडें है। लेकिन अब उन ग्रामीण क्षेत्र में रक्तदान के लिए ज्यादा से ज्यादा लोगों को जागरुक करेंगे जहां रक्तदान को लेकर अलग-अलग भ्रांतिया है।

खबरें और भी हैं...