महिला सरपंच और टीचर पति रिश्वत लेते गिरफ्तार:दुकान खाली नहीं करवाने के एवज में मांगी घूस, 8 हजार लेते रंगे हाथों ट्रैप

बारां10 दिन पहले
एसीबी टीम आरोपियों से पूछताछ में जुटी है। साथ ही आरोपियों के आवास का सर्च करने के साथ ही बैंक खातों की भी डिटेल जुटाई जा रही है। 

कोटा एसीबी की टीम ने बारां में रिश्वत लेते महिला सरपंच और उसके पति को गिरफ्तार किया है। आरोपी सरपंच और उसके पति ने पीड़ित से ग्राम पंचायत से किराए पर ले रखी दुकान को खाली नहीं करवाने की एवज में 10 हजार रुपए की रिश्वत मांगी थी। एसीबी टीम ने दोनों को बारां स्थित निजी आवास पर परिवादी से 8 हजार रुपए लेते रंगे हाथों ट्रैप किया है। एसीबी टीम आरोपियों से पूछताछ में जुटी है। साथ ही आरोपियों के आवास का सर्च करने के साथ ही बैंक खातों की भी डिटेल जुटाई जा रही है।

एसीबी के एडीजी हेमंत प्रियदर्शी ने बताया कि एसीबी की कोटा इकाई को पीड़ित ने शिकायत दी थी। पीड़ित ने बताया था कि उसने ग्राम पंचायत करनाहेड़ा की दुकान और गोदाम किराए पर ले रखा है। करनाहेड़ा की सरपंच निर्मला मेघवाल और उसके पति रामप्रसाद मेघवाल की ओर से गोदाम को खाली नहीं कराने के लिए किराए के अतिरिक्त 2 हजार रुपए प्रतिमाह अलग से मांग की जा रही है। इस पर एसीबी कोटा इकाई के एएसपी विजय स्वर्णकार के निर्देशन में शिकायत का सत्यापन किया गया। शिकायत सही होने पर बुधवार को सीआई अजीत बगड़ोलिया और सीआई ताराचंद के नेतृत्व में एसीबी टीम ने ट्रैप कार्रवाई करते हुए महिला सरपंच निर्मला मेघवाल और उसके पति रामप्रसाद मेघवाल को 8 हजार की रिश्वत लेते ट्रैप कर लिया। सरपंच के न्यू नाकोड़ा कॉलोनी स्थित घर में एसीबी की कार्रवाई जारी है। सरपंच का पति रामप्रसाद मेघवाल राजकीय उच्च माध्यमिक स्कूल संबलपुर में लेवल-1 का टीचर है। फिलहाल इनके घर की तलाशी लेने के साथ ही अन्य जानकारी जुटाई जा रही है।