पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

लापरवाही:रिफाइनरी ग्रीन बेल्ट में प्रशासन ने हटाए थे अतिक्रमण,18 माह बाद फिर कब्जे

बालोतरा10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बालोतरा . फरवरी 2019 में प्रशासन की मौजूदगी में अतिक्रमण हटाते हुए।
  • क्षेत्र में अतिक्रमियों की भरमार, प्रशासन व राजस्व विभाग नहीं कर रहा कार्रवाई

थार की नई इबारत लिखने वाली पचपदरा की रिफाइनरी...! जब से काम शुरू हुआ है, हजारों लोगों को रोजगार मिल रहा है। वहीं अब जमीनों के भाव भी सातवें आसमान पर है, गत तीन साल से तेजी से चल रहे काम पर बाहर से आने वाले लोग यहां भरपूर इंवेस्टमेंट कर रहे हैं। बालोतरा से पचपदरा व बागुंडी राेड पर निकलें तो हर जगह इमारतें बनती नजर आती है। साथ ही होटल-रेस्टाेरेंट व ढाबे में भी अनगिनत है, ऐसे में अब पचपदरा की सूरत और सीरत ही बदल गई है, लेकिन रिफाइनरी के ग्रीन बेल्ट में लगातार बढ़ रहे अतिक्रमण मुख्य समस्या बने हुए है।

राजस्व विभाग के लगातार नोटिस देने के बावजूद भी अतिक्रमण नहीं हटाए गए तो फरवरी 2019 में तात्कालिक एसडीएम व पचपदरा थानाधिकारी सहित तमाम लवाजमे के साथ यहां से अतिक्रमण हटाए गए थे, वहीं कुछ अतिक्रमियों को 15 दिन के भीतर अतिक्रमण हटाने की हिदायत दी गई थी। विडंबना कि प्रशासन व राजस्व विभाग के अधिकारियों की इच्छाशक्ति के अभाव के चलते हिदायत के बाद भी यहां से अतिक्रमण तो नहीं हटे, लेकिन नए अतिक्रमी जरूर काबिज हो गए। बड़ी बात यह जिस जगह से प्रशासन ने अतिक्रमण हटाए, उसी जगह व उसके आस-पास नए अतिक्रमण कर पक्के निर्माण करवा लिए गए हैं। इसके साथ ही रिफाइनरी की चारदीवारी के समीप भी कई लोगों ने केबिन लगाकर किराणा व रेस्टोरेंट के साथ-साथ शराब का अवैध कारोबार भी शुरु कर लिया है। इस स्थिति से वाकिफ होने के बावजूद अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई नहीं की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि रिफाइनरी का कार्य शुर होते ही पचपदरा-सांभरा मार्ग के बीच राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे ग्रीन बेल्ट क्षेत्र में कई लोगों ने अतिक्रमण कर पक्के निर्माण करवा दिए। शुरुआती दौर में प्रशासन व राजस्व विभाग के रोकटोक नहीं करने से आस-पास दर्जनों दुकानें-होटलें बनकर खड़ी हो गई। अतिक्रमियों ने निर्माण करवाकर इन्हें ऊंचे दामों पर किराए पर दे दिया। प्रशासन व राजस्व विभाग की ओर से कोई कार्रवाई नहीं होते देख अन्य अतिक्रमी भी काबिज हो गए। राजनीतिक रसूख के चलते राजस्व विभाग की टीम ने इन्हें कई बार नोटिस दिए, लेकिन अतिक्रमण नहीं हटे। आखिरकार उच्चाधिकारियों की फटकार के बाद अंतिम बार फरवरी 2019 में जरूर कुछ अतिक्रमण हटाए गए, लेकिन पुराने अतिक्रमियों को इस बार भी हिदायत देकर छोड़ दिया गया। नतीजन आज दर्जनों की संख्या में यहां पर अतिक्रमण हो रखे हैं, जिसमें अधिकांश अतिक्रमियों ने पक्के निर्माण भी करवा दिए।

कामकाज बढ़ा तो किराए के लालच ने बढ़ा दिए अतिक्रमी

रिफाइनरी में राजस्थान सहित बाहरी राज्यों से कई बड़ी कंपनियां कामकाज कर रही है। जिसमें हजारों श्रमिक काम कर रहे हैं। ऐसे में श्रमिकों के रहने के लिए ग्रीन बेल्ट क्षेत्र में कई आवासीय कॉलोनियां बनकर तैयार हो गई है। श्रमिकों की अधिक तादाद पर यहां पर किराणा, होटल-रेस्टोरेंट के साथ ही अन्य दुकानें भी खुल गई है। ऐसे में रोजगार की चाह को लेकर लोग अधिक किराए पर भी दुकानें ले रहे हैं। इस पर दुकानों के आसमान छूते दाम पर आस-पास के लोग ग्रीन बेल्ट में दुकानों का निर्माण कर ऊंचे दामों पर दे रहे हैं। किराए के लालच में अन्य अतिक्रमी भी रिफाइनरी के चारदीवारी के समीप अतिक्रमण कर रहे हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- चल रहा कोई पुराना विवाद आज आपसी सूझबूझ से हल हो जाएगा। जिससे रिश्ते दोबारा मधुर हो जाएंगे। अपनी पिछली गलतियों से सीख लेकर वर्तमान को सुधारने हेतु मनन करें और अपनी योजनाओं को क्रियान्वित करें।...

और पढ़ें